कोरबा : लूट का सरगना असिस्टेन्ट कैशियर ही निकला, 10 लाख बरामद

सके साथियों को भी हिरासत में लेकर पुलिस रकम बरामद करने में जुटी

कोरबा| बिलासपुर संभाग के कोरबा जिले के दीपिका थाना इलाके में शनिवार की रात इंडिया एसीबी लिमिटेड कंपनी के सैनिक माइनिंग कैम्प में हथियारबंद तीन लोगों ने गार्डों को बंधक बनाकर करीब 31 लाख रूपये लूट का मामला पुलिस ने सुलझा लिया है| लूट का सरगना असिस्टेन्ट कैशियर ही निकला| उसके पास से 10 लाख रूपये जब्त किये गये हैं| उसके साथियों को भी हिरासत में लेकर पुलिस रकम बरामद करने में जुटी हुई है|

बता दें कि दीपका थाना क्षेत्र में स्थित सैनिक माइनिंग कोल् ट्रांसपोर्ट कंपनी के दफ्तर में शनिवार की रात नकाबपोश अपराधियो ने गार्ड को बंधक बनाकर 31 लाख रुपये की लूट कर फरार हो गए थे।देखें वीडियोhttps://www.youtube.com/watch?v=7e6o4z0nfX0&feature=youtu.be

वारदात के बाद खुद कोरबा एस.पी अभिषेक मीणा ने मौके पर पहुँचकर मामले की तफ्तीश की और कमान अपने हाथों में रखी|

पुलिस को शुरू से ही कंपनी के कर्मचारियों के शामिल होने का संदेह था लिहाजा असिस्टेंट कैशियर जे.एल.प्रसाद को संदेह के आधार पर हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की गई |

आखिर संदेही कैशियर ने अपना गुनाह कबूल कर लिया, उसकी  निशानदेही पर लूट के साढ़े 10 लाख रुपये बरामद कर जब्त  किये गये| वारदात में शामिल उसके बाकी साथियों को गिरफ्तार कर पुलिस रकम बरामद करने में जुटी हुई है।

बताया जा रहा है कि असिस्टेंट कैशियर जे.एल.प्रसाद पिछले 20 साल से कार्यरत है ।कोरबा एस.पी.अभिषेक मीणा ने बहुत जल्द सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा करने की बात कही है।

बता दें कि कोरबा में ही एक दिन पहले ही एक युवक ने 95 हज़ार लूट की रिपोर्ट दर्ज कराइ थी| दरअसल अपने मौसेरे भाई के 95 हज़ार रुपये हडपने की नीयत से उसने झूठी कहानी गढ़ी थी| कुछ ही घंटों में पुलिस ने मामला सुलझा लिया था|