महासमुंदः बुंदेली के जंगल में करंट से 2 भालू का शिकार, 3 गिरफ्तार

चीतल-जंगली सुअर के लिए लगाया था करंट, फंसे नर-मादा भालू

रजिंदर खनूजा, पिथौरा। महासमुंद जिले के बुंदेली के जंगल में वन्य प्राणियों का करंट से  शिकार करने वाले एक गिरोह को वन विभाग ने आज धर दबोचा।गिरोह के कुल चार आरोपियों में तीन आरोपी गिरफ्तार किए गए है।जबकि एक आरोपी फरार बताया जा रहा है।
वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार सोमवार को एक ग्रार्मीण ने क्षेत्र के वन रक्षक पुष्पा नेताम एवम डिप्टी रेंजर के के तिवारी को बुंदेली क्षेत्र के जंगल बेल्डीह एवम टिकरापारा के बीच दो भालू के मृत पड़े होने की सूचना दी।
सूचना के बाद दोनों वन कर्मियों ने जंगल जाकर देखा तो घटनास्थल पर तार भी फैली दिखी।इसके बाद शिकार की संभावना देख कर घटना की जानकारी स्थानीय वन विभाग के रेंजर यु आर बसन्त एवम एस डी ओ सी के टिकरिहा को दी।
जानकारी मिलते ही दोनों अधिकारीयो ने डॉग सकायड को बुला कर स्वयम घटना स्थल पहुच गए।घटनास्थल का मुआयना करने पर वहां से कोई एक किलो मीटर लम्बी जी आयी तार मिली जिसे ग्राम के पास के एक ट्रांसफॉर्मर से जोड़ कर करंट प्रवाहित किया गया था।
   इसमें बाद वन अफसरों ने डॉग सकायड के पहुचते ही आरोपियों की तलाश भी प्रारम्भ कर दी डॉग सकायड से विभाग के अधिकारियों को कुछ सूत्र हाथ लगे।डॉग घटना स्थल से एक ग्रामीण  रामजी निषाद के घर तक जाकर रुकता था।
इसके बाद वन विभाग के मुखबिर ने रामजी के बारे में बताया कि वह पूर्व में भी शिकार के मामले में अरोपी रहा चुका है।इसकी खबर मिलते ही विभागीय अमले ने आज ही सुबह रामजी के घर मे दबिश देकर चीतल के सींग एवम तार का फंदा बनाने में प्रयुक्त खूंटी जब्तत कर उससे पूछताछ की।पूछताछ में रामजी ने अपना अपराध कबूल कर अपने तीन अन्य साथियों के नाम भी बता दिए
करंट से शिकार
 रामजी निषाद पिता मनराखन गोंड़(55) निवासी ग्राम छिंदोली,इनके साथी नैनसिंह पिता मनराखन(38),एवं देवलाल पिता सुभाष कुम्हार(35) से पूछ ताछ में उन्होंने बताया कि वे जी आई तार जंगल मे वन्य प्राणियों के अवगमन के रास्ते मे खूंटी और बोतल की सहायता से फैला देते एवम ट्रांसफॉर्मर से इन तारो में करंट प्रवाहित कर देते थे।
वे स्वयम दूर से चीतल एवम जंगली सुअर के फंसने की प्रतीक्षा करते रहते।तारो के जल में फंसकर जैसे ही कोई जानवर करंट से गिरता है।बोतल भी आपस मे टकरा कर आवाज करती और शिकारी करंट निकाल कर शिकार उठा कर ले जाते थे।परन्तु रविवार की रात शिकारियों के जाल में एक नर एवम एक मादा भालू फंस गए और करंट की चपेट में आने से जान गंवा बैठे।
बहरहाल स्थानीय वन विभाग  उक्त मामले में वन्य प्राणी संरक्षण अधिनयम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच में जुट गया है।पूरी घटना में प्रयुक्त जी आयी एवम अन्य करंट प्रवाहित करने वाली तार,मांस काटने के औजार,खाली बोतल,लकड़ी की खूंटी और,शाही के पंख आदि जप्त किये है।पूरे मामले में वन एस डी ओ सी के टिकरिहा,रेंजर यू आर बसन्त,डिप्टी रेंजर कृष्ण कुमार तिवारी,वन रक्ष्म पुष्पा नेताम   एवम सुरेश नवरंग सहित वन अमले का सक्रिय योगदान रहा।

संबंधित पोस्ट

बायसन की करंट युक्त फंदे से मौत, 3 गिरफ्तार

सरगुजा : नाबालिग युवती से सामूहिक बलात्कार, 3 गिरफ्तार

दिल्ली से लग्जरी कारें चुरा नक्सल प्रभावित इलाकों में बेचा, 3 गिरफ्तार

महासमुंद: अवैध शराब के खिलाफ पिथौरा पुलिस की मुहिम, छापे, 3 गिरफ्तार

देवपुर परिक्षेत्र में करंट से जंगली सूअर का शिकार,3 गिरफ्तार

महासमुंदः फिर ओडिशा की सरहद से आए ट्रक से 5.20 क्विंटल गांजा जब्त, 3 गिरफ्तार

महासमुंदः सरायपाली में महुआ शराब बनाते 3 गिरफ्तार

मप्र में पेशाब पिलाए जाने से दुखी युवक फांसी पर झूला, 3 गिरफ्तार

जशपुर में चोर गैंग के 3 गिरफ्तार

कोलकाता सेक्स रैकेट में व्यवसायी परिवारों के दो सदस्यों सहित 3 गिरफ्तार

3 क्विंटल गांजा के साथ 3 गिरफ्तार

उप्र में कोर्ट जा रही रेप पीड़िता को जिन्दा जलाने की कोशिश, 5 गिरफ्तार