सुकमा में नक्सलियों की जनअदालत, युवक की कर दी हत्या

पुलिस मुख़बिरी का आरोप लगाकर जनअदालत में लिया फैसला

सुकमा। बस्तर संभाग के सुकमा जिला के फुलबगड़ी थाना क्षेत्र पुलिस मुखबिरी के शक में एक ग्रामीण की नक्सलियों ने हत्या कर दी है। बड़ेसट्टी के सिगानपारा निवासी पोडियम सिंगा की नक्सलियों ने हत्या कर दी। बताते है कि कल नक्सलियों ने उसे अगवा कर लिया था।

जिसके बाद उसकी हत्या कर आज सुबह उसकी लाश गाँव के नज़दीक लाकर फेंक दिया। नक्सलियों ने इसे पुलिस का मुखबिर बताते हुए एक पर्चा भी फेंका है। जिसमें पुलिस को सूचना देकर फायरिंग करवाने का आरोपी नक्सलियों ने पोडियम सिंगा पर लगाया है। माओवादियों द्वारा फेंके गए पर्चे में जन अदालत ने हुए पोडियम सिंगापुर फैसले के मुताबिक सजा-ए-मौत देने की बात कहीं गई है।

पोडियम के शव के साथ केरलापार एरिया कमेटी ने एक पर्चा भी जारी किया है। माओवादियों ने पर्चे में लिखा है : –

0 इसमें नक्सलियों ने लिखा है कि “माओवादी पार्टी को उन्मूलन करने का लक्ष्य से दुश्मन सुकली नेटवर्क तैयार कर रहा है।

0 स्थानीय प्रति क्रांतिकारी गद्दारों को सामने रखकर इन गद्दारों का नेतृत्व में हर गांव गांव में उनके परिवारों के संपर्क से इंटेलिजेंस नेटवर्क जाल बिछा कर रखा है।

0 इस नेटवर्क में सिगानपारा पोडियम सिंगा 2017 से मुखबिरी के काम कर रहा है।

0 सिगानपारा गांव दलम पहुंचते ही तुरंत पुलिस को फोन द्वारा सूचना देता था। इस तरह समाचार के आधार पर हमारे पीएलजीए कॉमरेड को दो बार मुठभेड़ फर्जी मुठभेड़ से हत्या कर सफल हुए। हमारे पार्टी कार्यकर्ताओं को और जन संगठन कॉमरेड 4 जन को फर्जी मुठभेड़ से फायरिंग कर हत्या कर दी।

0 इस घटना में शामिल पोडियम सिंगा को 8,00000 पुलिस इनाम दिया।

0 इस मुखबीर पोडियम सिंगा को जन अदालत में 7/4/2020 में ख़त्म।

केरलापाल एरिया कमेटी
भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी)