पिता को मुखाग्नि देकर पूरी की अंतिम इच्छा…

समाज के लोगों ने भी बढ़ाया बेटी का मनोबल

बिलासपुर। पिता की इच्छा थी कि उसके निधन होने पर पुत्री दाह संस्कार करे और पुत्री ने पिता की इस इच्छा को पूरी की। तखतपुर वार्ड क्रमांक 4 आजाद नगर निवासी संजय केनार पिता स्व. राजाराम केनार पिछले कुछ समय से अस्वस्थ थे। उनका उपचार बिलासपुर में चल रहा था। वह वापस घर आ गए थे। अचानक तबियत बिगड़ जाने के कारण बिलासपुर ले जाया गया जहां गुरुवार को उनका निधन हो गया। संजय केनार ने अपने परिवार से कहा था कि यदि मेरी मौत हो गई तो अंतिम संस्कार बेटी पूजा करेगी।

संजय की एकमात्र पुत्री पूजा कन्या हाईस्कूल में कक्षा 12वीं की छात्रा है। जब सब एकत्र हुए तो चर्चा निकली कि संजय का अंतिम संस्कार कौन करे। परिजनों और समाज के लोगों से संजय की पत्नी ने उनकी अंतिम इच्छा के बारे में बताया और कहा कि दाह संस्कार बेटी ही करेगी। ऐसा सुनकर समाज के लोग असहज हो गये, क्योंकि सूर्यवंशी समाज में अब तक ऐसा नहीं हुआ था पर संजय की इच्छा का सम्मान करते हुए समाज के लोगों ने पुरानी परम्परा को दरकिनार करते हुए पूजा से दाह संस्कार कराने का निर्णय लिया। जिस समय पूजा ने दाह संस्कार क्रिया पूरी की मुक्ति धाम में उपस्थित लोगों की आंखें नम हो गईं। समाज के अध्यक्ष अजय केनार ने कहा कि ऐसे फैसलों से पुत्र और पुत्री के बीच भेद कम होगा। वार्ड के पार्षद टेकचंद कारडा ने कहा कि हम सब को अपनी सोच में बदलाव लाना चाहिए और बेटा-बेटी में भेद नहीं करना चाहिए। निधन पर एक शोकसभा का आयोजन भी किया गया। इसमें शैलेन्द्र प्रधान ने संजय केनार के सामाजिक योगदान को याद करते हुए कहा कि उनके निधन से हम सब रिक्तता महसूस कर रहे हैं।