बलोदा बाजार के कोठारी जंगल में मृत मिले तेंदुए की लड़ाई से हुई थी मौत

शव परीक्षण के बाद मौके पर ही तेंदुए का अंतिम संस्कार भी कर दिया गया

रजिंदर खनूजा, पिथौरा|महासमुंद जिले से सटे बलोदा बाजार जिले के बलोदा बाजार वन मंडल के कोठारी वन परिक्षेत्र में एक तेंदुए को  मृत  पाया गया| तेंदुए की उम्र लगभग 5 से 6 वर्ष थी| मौत का कारण तेंद्यों की आपसी लड़ाई बताया गया है| शव परीक्षण के बाद मौके पर ही तेंदुए का अंतिम संस्कार भी कर दिया गया।

मिली जानकारी के अनुसार के बलोदा बाजार वन मंडल के कोठारी वन परिक्षेत्र के बार से तूरतूरिया मार्ग के किनारे ग्राम भीभोरी के निकट एक नर तेंदुए को मरा पाया गया | विभागीय कर्मियों की  सूचना मिलते ही अभ्यारण्य अधीक्षक बार नवापारा आर एस मिश्रा,परिक्षेत्र अधिकारी बारनवापारा कृशानु चंद्राकर, प्रभारी परीक्षेत्र अधिकारी कोठारी पवन सिन्हा तत्काल मौके पर पहुंचे।

मौके पर ही पशु चिकित्सा अधिकारी कसडोल लोकेश वर्मा एवं पशु चिकित्सक अनीश सोनवानी के द्वारा शव परीक्षण की कार्रवाई की गई। शव परीक्षण के बाद मौके पर ही तेंदुए का अंतिम संस्कार भी कर दिया गया।

आपसी लड़ाई में मरा तेंदुआ

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट एवम विभागीय जांच में यह बात स्पस्ट हुई कि मृत तेंदुआ एवम एक अन्य तेंदुआ की आपसी लड़ाई के कारण ही इस तेंदुए की मौत हुई है। तेंदुए की उम्र लगभग 5 से 6 वर्ष की बताई गई है|सभी उपस्थित अधिकारियों-कर्मचारियों एवं ग्राम प्रमुखों के समक्ष तेंदुए के समस्त अंगों को जलाकर का शव दाह किया गया।

बता दें बार अभ्यारण्य से लगे बार नवापारा, देवपुर, कोठारी  इलाकों से जंगली जानवरों के शिकार की घटनाएँ वन विभाग के लिए चुनोती रही है|

हाल ही में सम्हर का शिकार करने वाले 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया था| इनसे  मांस , शिकारी  सामान भी बरामद किया गया था|

इसी तरह देवपुर वन परिक्षेत्र में करंट से जंगली सूअर का शिकार करनेवाले पकडे गये थे|

जंगलों से सटे गांवों में करंट से शिकार आसन हथियार बनता जा रहा है |