11 दिव्यांग जोड़ों ने लिए सात फेरे…

नांदगांव की बाबा रामदेव समिति ने कराए हाथ पीले

राजनांदगांव। एक बड़ी सामाजिक उत्तरदायित्व का निर्वहन करते संस्कारधानी राजनांदगांव की एक समिति ने 11 दिव्यांग जोड़ों को परिणय सूत्र में बांधकर दांपत्य जीवन में प्रवेश कराया। खास बात यह है कि बाबा रामदेव के वंशज तवरवंशी हनुमान सिंह भी वैवाहिक समारोह में आशीर्वाद देने के लिए पहुंचे। शुक्रवार को बाबा रामदेव समिति द्वारा शहर एवं जिले से आए 11 जोड़ों का वैदिक मंत्रोच्चार के साथ विवाह कराया। इन जोड़ों को आशीर्वाद देने के लिए शहर के अलग-अलग वर्ग के लोग स्थानीय उदयाचल प्रांगण में मौजूद थे।

शारीरिक रूप से असक्षम लोगों के लिए समिति ने आम लोगों की तरह सामान्य वैवाहिक जीवन जीने के लिए आदर्श विवाह कराया। 11 जोड़ों में सभी किसी न किसी शारीरिक विकलांगता से जूझ रहे हैं। आज सुबह सामाजिक रीति-रिवाज के साथ जोड़ों का सामूहिक आदर्श विवाह कराने के बाद लोग आशीर्वाद देने के लिए आतुर नजर आए। वहीं आयोजन की दूसरी कड़ी में देर शाम को वैवाहिक स्थल में भव्य जम्मा जागरण का आयोजन किया गया है। बाबा रामदेव समिति ने अपने कंधों में सामाजिक जिम्मेदारी का भार लेकर नि:शक्तजनों को एक बड़ी सौगात दी है।