शीर्ष महिला नक्सली सुनक्का के मारे जाने पर 22 को नक्सल बंद से पहले फूंके 4 वाहन

कथित मुठभेड़ के विरोध में छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र हाईवे में नक्सल उपद्रव

 
प्रदीप मेश्राम, राजनांदगांव। गढ़चिरौली में कुछ दिन पहले शीर्ष महिला नक्सली सुनक्का के मारे जाने के विरोध में नक्सल संगठन ने 22 मई को भारत बंद का ऐलान किया है। बंद से पहले नक्सलियों ने मंगलवार-बुधवार की दरम्यानी रात को छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र नेशनल हाईवे में 4 वाहनों को आग के हवाले करते पेड़ काटकर मार्ग को अवरूद्ध कर दिया।

नक्सलियों ने आगजनी और पेड काटने की घटना के बाद बैनर लगाकर अपना विरोध जताया है। बताया गया है कि नक्सलियों ने राजनांदगांव-गढ़चिरौली मार्ग पर सांवरगांव के गजामेडी जंगल से गुजर रहे चार वाहनों को बीती रात रोका और उसके बाद तीन हाईवा समेत एक ट्रक में आग लगा दी।

घटना के संबंध में धनोरा एसडीओपी विक्रांत गायकवाड़ ने बताया कि नक्सलियों द्वारा आगामी 22 मई को देशव्यापी बंद का ऐलान किया गया है। इसी के चलते राष्ट्रीय राजमार्ग में नक्सलियों ने दहशत फैलाने के उद्देश्य से गाडिय़ां जलाई है।

इस बीच नक्सलियों ने आगजनी के बाद उपद्रव मचाते हुए पेड काटकर रास्ते को अवरूद्ध भी कर दिया। नक्सलियों का पुलिस पर आरोप है कि सी-60 फोर्स द्वारा धोखे से हार्डकोर नक्सली सुनक्का को मारा गया है।

जिसके विरोध में बंद बुलाया गया है। बताया जा रहा है कि नेशनल हाईवे में नक्सलियों ने जगह-जगह पेड़ काटे हैं। घटना की जांच की जा रही है।