अपहृत नैतिक लौटा घर,नौकर ही निकला अपहरण का आरोपी

पुलिस को मिली 8 घण्टे में ही बड़ी सफलता

राजनांदगांव | राजनांदगांव के होटल व्यवसायी विनोद लुल्ला के अपहृत 8 वर्षीय पुत्र नैतिक लुल्ला घर लौट आया है। रविवार शाम 6 बजे अपहरणकर्ताओं ने नैतिक का अपहरण दो बाइक सवार युवकों ने उसके घर के सामने से कर लिया था। घटना के बाद पुरे शहर में सनसनी फैल गई थी। पुलिस ने जानकारी मिलते ही अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार करने के लिए शहर भर में नाकेबंदी कर दी थी। जिस वक्त इस घटना को अंजाम दिया गया उस वक्त नैतिक मोहल्ले (खंडेलवाल कॉलोनी) में सायकल चला रहा था। उसी दौरान बाइक में दो युवक पहुंचे और उन्होंने नैतिक को अगवा कर लिया था।

होटल का वेटर निकला अपहरणकर्ता
परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर आरोपियों की पतासाजी के लिए शहर में नाकेबंदी कर दी थी। हर आने जाने वाले रास्ते पर सघन चेकिंग की जा रही है। वहीं आसपास के इलाके में मौजूद तमाम सीसीटीवी कैमरों को भी खंगाला गया। पुलिस को जैसे ही आरोपियों के ठिकानों का पता चला तत्काल पुलिस मौके पर पहुंची। आरोपियों का लोकेशन महाराष्ट्र सीमा से सटे साल्हेकसा के कचारगढ़ गांव का पुलिस को मिला। जिसके बाद पुलिस की टीम कचरागढ़ पहुंचकर नैतिक को अपने कब्जे में लिया और आरोपियों को धर दबोचा। पुलिस उस पकडे गए तीनो आरोपी के नाम अक्षय सहारे, चुन्नी लाल गावड़े और एक नाबालिग बताया हैं। तीनो ही आरोपी सलहेक्सा के रहने वाले हैं और विनोद लुल्ला के होटल में ही वेटर का काम करते हैं।

पुलिस कर रही है पूछताछ
दुर्ग रेंज के आईजी विवेकानंद सिन्हा ने बताया कि नैतिक के अपहरण में जो आरोपी शामिल थे वह नैतिक के पिता विनोद लुल्ला के यहां वेटर के रूप में काम करते थे और दोनों ही आरोपी को पकड़ लिया गया है। पुलिस को प्रारंभिक पूछताछ में आरोपियों ने होटल व्यवसायी द्वारा उन्हें परेशां किया जाना बताया। इन होटल कर्मचारियों ने अपहरण का कारन विनोद लुल्ला से बदला लेना बताया। घटना के सम्बन्ध में आगे और उनसे पूछताछ कीए जाने की बात आईजी उस बताया। आरोपी द्वारा किस उद्देश्य से बच्चे का अपहरण किया गया है यह जांच के बाद ही पता चल पाएगा। आईजी विवेकानंद सिन्हा ने कहा कि हमारा पहला उद्देश्य यही था कि बच्चे को सकुशल आरोपियों के चंगुल से बाहर निकाला जाये ।

परिवार में लौटी ख़ुशी
बच्चे को सकुशल परिजनों को सौंप देने के बाद परिजन काफी खुश नजर आ रहे हैं और आसपास के लोग भी राहत की सांस ली है। देर रात लौटे नैतिक के घर पहुंचने के बाद परिजनों ने रहत की सांस ली। सभी ने राजनांदगांव जिले की पुलिस टीम को धन्यवाद ज्ञापित किया है। इस संबंध में नैतिक के पिता विनोद लुल्ला और माँ पायल लुल्ला ने राजनांदगांव पुलिस महकमे को धन्यवाद दिया।