राजनांदगांवः लोकतंत्र पर आस्था मजबूत, इस हाल में भी पहुंचे वोट देने

मतदान करने के लिए बिस्तर छोड़कर पोलिंग बूथ पहुंचे

राजनांदगांव। लोकतंत्र को मजबूत करने में अपनी अहमियत को समझते हुए सेहत से परेशान लोगों ने भी हिम्मत दिखाकर मतदान केंद्र का रूख किया। छत्तीसगढ़ सरकार में अपर कलेक्टर रहे पी.तिर्की ने भी मतदान करने के लिए बिस्तर को पीछे छोड़कर मौलिक अधिकार को महत्व दिया। इसी तरह 72 वर्षीय नि:शक्तजन हिमांशु स्वामी ने ट्राईसिकल से पहुंचकर अपना उत्साह और जोश दिखाया। आज पूरे दिन मतदान के लिए जिस तरह से लोगों ने लोकतंत्र के प्रति अपनी गहरी समझ को लेकर मुहर लगाया। उससे यह जाहिर हो गया कि बैलेट के प्रति लोगों का आकर्षण लोकतांत्रित व्यवस्था की जड़ों को और गहरा बनाता है।

                       इससे पहले कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी जेपी मौर्य नगरीय निकाय चुनाव को लेकर शनिवार को मतदान केंद्रों में पहुंचकर मतदाताओं से सीधे रूबरू हुए। कलेक्टर ने पीठासीन अधिकारियों-कर्मियों को बैलेट पेपर से मतदान करने के तरीके की जानकारी पर भी ध्यान देने को कहा। खासतौर पर उम्रदराज मतदाताओं को बैलेट पेपर की विशेष जानकारी देने का कलेक्टर ने निर्देश दिया। कलेक्टर ने शहर के अलग-अलग मतदान केंद्रों के अलावा दीगर नगर पंचायत व पालिकाओं के मतदान केंद्रों में निरीक्षण किया।