खैरागढ़ राजघराने के विक्रांत को मिला जिपं का दूसरा शीर्ष पद

उपाध्यक्ष चुने गए विक्रांत सिंह के खाते में एक और उपलब्धि

प्रदीप मेश्राम

राजनांदगांव। राजनांदगांव जिला पंचायत की उपाध्यक्ष की कुर्सी पर भाजपा के विक्रांत सिंह की ताजपोशी हो गई है। इसी के साथ ही अध्यक्ष के बाद दूसरे सीट पर उपाध्यक्ष में भाजपा का कब्जा हो गया है। भाजपा के खाते में दोनों पद के आने से 5 साल बाद पार्टी का दबदबा रहेगा।

शुक्रवार को देापहर हुए मतदान के बाद आए नतीजों में विक्रांत सिंह ने 2 वोटों से कांग्रेस उम्मीदवार महेन्द्र यादव को शिकस्त दी। विक्रांत के पक्ष में 13 और महेन्द्र के पक्ष में 11 वोट पड़े। यानी उपाध्यक्ष चुनाव के दौरान दोनों दल में क्रॉस वोटिंग नहीं हुई। कांग्रेस के लिए यह एक राहत भरा फैसला रहा। इस बीच विक्रांत सिंह को उपाध्यक्ष बनाए जाने की पूरी संभावना थी।

जिला पंचायत क्षेत्र क्रमांक 4 से बतौर सदस्य निर्वाचित हुए विक्रांत सिंह ने 28 वोटों से जीत हासिल की थी। उनके इस जीत को इसलिए भी महत्वपूर्ण माना गया, क्योंकि जिस क्षेत्र से वह विजयी हुए। वह इलाका लोधी बाहुल्य क्षेत्र है।

खैरागढ़ की राजनीति में लंबे समय से लोधीवाद का वर्चस्व रहा। विक्रांत सिंह के विजयी होते ही लोधीवाद का तिलस्म गायब होता दिख रहा है। इस बीच जिला पंचायत उपाध्यक्ष के लिए आज काफी गहमा-गहमी के बीच चुनाव हुए। विक्रांत के खिलाफ लगातार दूसरी बार जिला पंचायत सदस्य चुनकर महेन्द्र यादव को उतारा गया।

बताया गया कि कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व महेन्द्र यादव के जीतने की संभावना टटोल रहा था। हालांकि जिला पंचायत चुनाव में कांग्रेस में किसी भी शीर्ष नेता को प्रचार में नहीं भेजा, जबकि भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, सांसद संतोष पांडे, पूर्व सांसद अभिषेक सिंह और जिला भाजपा अध्यक्ष मधुसूदन यादव जैसे माहिर राजनेताओं को प्रचार में उतारा था।

जिला पंचायत में आज आए फैसले से यह साफ हो गया कि भाजपा द्वारा स्टॉर प्रचारकों को मैदान में उतारना फायदेमंद रहा। उधर करीब 5 साल बाद खैरागढ़ राजपरिवार के खाते से जिला पंचायत उपाध्यक्ष का दोबारा पहुंच गया है।

वर्ष 2010 से 15 तक खैरागढ़ राजघराने के सचिन बघेल उपाध्यक्ष थे। राजनीतिक रूप से आज जिला पंचायत के निर्णय ने कांग्रेस को जहां झटका दिया है। वहीं भाजपा के लिए ग्रामीण राजनीति में अपने खोये जनाधार को वापस पाने का मौका दिया है।

संबंधित पोस्ट

कोरिया के इस शिवलिंग को हाथी भी टस से मस न कर सका

कोरियाः धान खरीदी में लापरवाही, 3 पटवारी निलंबित

रायगढ़ : ओडिशा के पूर्व एमएलए अनूप साय पर सबूत नष्ट करने की भी धारा जोड़ी जाएगी

बस्तरः बेकाबू ट्रेक्टर पलटने से 4 मौतें

राजनांदगांव : होटल में जा घुसा नगर निगम का पानी टैंकर…

हिन्दुस्तान में हॉकी की बदौलत नांदगांव का नाम – चौबे

पुलवामा की बरसी पर कांग्रेस ने केंद्र पर साधा निशाना

पोखलेन को जलाने की नाकाम कोशिश, नक्सली घटना की आशंका

‘छग के जंगलों का अनुभव यूपी पुलिस खुफिया तंत्र को मजबूती देगा’

प्रेम का चढ़ा रंग ऐसा, 8 लाख के इनामी नक्सल कमांडर ने प्रेमिका संग छोड़ दिए हथियार

रायगढ़ की महिला अफसर के सुसाइड नोट ने उड़ा दी प्रशासन की नींद

बस्तरः जहां प्रेम ने इन युवकों को देवता बना दिया