जिला खनिज न्यास की बैठक में शिक्षा, स्वास्थ्य और सुपोषण को प्राथमिकता

प्रभारी मंत्री चौबे ने दिया दिशा निर्देश

रायपुर |आज कलेक्टोरेट के रेडक्राॅस सभाकक्ष में जिला खनिज न्यास के शासी परिषद की बैठक आयोजित की गयी। बैठक में नवीन कार्ययोजना का अनुमोदन किया गया। बैठक में श्रम एवं नगरीय प्रशासन मंत्री डाॅ. शिव डहरिया, विधायक सत्यनारायण शर्मा, धनेन्द्र साहू, बृजमोहन अग्रवाल, अनिता योगेन्द्र शर्मा, कुलदीप जुनेजा, बलौदाबाजार जिले के विधायक प्रमोद शर्मा तथा शासी परिषद के सदस्यगण के अलावा जिला कलेक्टर कलेक्टर डाॅ. एस. भारतीदासन सहित अधकारीगण भी उपस्थित थे। इस योजना में शिक्षा, स्वास्थ्य तथा सुपोषण अभियान को प्राथमिकता दी गई है। रायपुर जिले के प्रभारी मंत्री तथा कृषि, पशुपालन, जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे ने नविन दिशा निर्देश अधिकारीयों को दिया।

बैठक में शासी परिषद के अनुमोदन की प्रत्याशा में स्वीकृत मुख्यमंत्री सुपोषण, गौठान समितियों, मासिक मानदेय स्वीकृत करने और आंगनबाड़ी केन्द्रों में गैस कनेक्शन प्रशासकीय स्वीकृति का अनुमोदन किया गया। बैठक में जानकारी दी गई की रायपुर जिला खनिज न्यास को अभी तक 89 करोड़ 73 लाख रूपये का आवटन प्राप्त हुआ है। जिसमें से वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए 14 करोड़ 40 लाख रूपये की राशि भी शामिल है। निधि के माध्यम से अभी तक 77 करोड़ 85 लाख रूपये की राशि आवंटित की गई है तथा 766 कार्य स्वीकृत किये गये है। इसमें से 664 कार्य पूरे हो गये है तथा 102 कार्य प्रगति पर है। उच्च प्राथमिकता के क्षेत्र में 11 क्षेत्रों में 645 कार्य स्वीकृत किये गये थे जिसमें से 551 कार्य पूर्ण हो चुके है तथा 94 कार्य प्रगति पर है। अन्य प्राथमिकता के क्षेत्र में 102 कार्य स्वीकृत किये गये थे जिसमें से 95 कार्य पूर्ण हो चुके है तथा 7 कार्य प्रगति पर है।

बैठक में मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के क्रियान्वयन के लिए 408 ग्राम पंचायतों को 30 हजार रूपये के मान से राशि का अनुमोदन किया गया। 249 आंगनबाड़ी केन्द्रों में एल.पी.जी. गैस कनेक्शन एवं चुल्हा प्रदान करने तथा 51 गौठान समितियों को 10-10 हजार रूपये की मानदेय राशि अनुमोदन किया गया।

बैठक में वार्षिक कार्ययोजना वर्ष 2019-20 के लिए मातृ-शिशु अस्पताल कालीबाड़ी रायपुर जिला अस्पताल पंडरी, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र गुंिढ़यारी, भनपुर, राजातालाब, भाटागांव, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र धरसींवा में चिकित्सक एवं पेरा मेडिकल स्टाॅफ के साथ चिकित्सिक उपकरण को कार्ययोजना में जोड़ा गया। इसी तरह 9 पोस्ट मेट्रिक तथा पी.एम.टी आदिवासी छात्रावासों में लाईब्रेरी की स्थापना के लिए 36 लाख रूपये की राशि स्वीकृत की गई। 91 शासकीय प्राथमिक शाला, 107 पूर्व माध्यमिक शाला, 32 उच्चतर माध्यमिक शाला में 265 शिक्षकों की व्यवस्था करने की स्वीकृति प्रदान किया। जिले में संचालित 100 गौठानों में ट्रेविस स्थापना, चारागाह विकास, तार घेरा, बोर आदि को भी स्वीकृति प्रदान की गई है। इसी तरह 1411 आंगनबाड़ी केन्द्रों में गैस कनेक्शन, 658 केन्द्रों में सुपोषण वाटिका और 1200 केन्द्रों में वाॅटर फिल्टर लगाने की स्वीकृति दी गई।

बैठक में प्रभारी मंत्री ने कहा कि गाईड लाईन के अनुसार अब अधोसंरचना के स्थान पर सेवा कार्यों पर जोर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसी तारतम्य में आदिवासी छात्रावासों में लाईबे्ररी की स्थापना को सराहनीय कदम बताया।