ईद मिलादुन्नबी : राष्ट्रपति,पीएम और सीएम भूपेश ने दी बधाई

राज्यपाल और डॉ रमन ने भी ईद मिलाद की दी बधाई

नई दिल्ली / रायपुर। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को पैगंबर मोहम्मद के जन्मदिन यानी “ईद मिलादुन्नबी” के अवसर पर लोगों की शुभकामना दी है। साथ ही प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने भी इस अवसर पर अपनी शुभकामनाएं दी है।
राष्ट्रपति ने ट्विटर पर लिखा “पैगम्बर मुहम्मद (स.) के जन्मदिन, मिलाद-उन-नब़ी के मुबारक मौके पर, मैं सभी देशवासियों, विशेष रूप से अपने मुस्लिम भाई-बहनों को शुभकामनाएं देता हूं। आइए, हम सब उनके जीवन से प्रेरणा लेकर आपसी भाईचारे और रहमदिली के साथ सभी की खुशहाली के लिए कार्य करें — राष्ट्रपति कोविन्द ”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने “ईद मिलादुन्नबी” की शुभकामनाएं देते हुए ट्वीट किया “मिलाद-उन-नबी पर बधाई। पैगंबर मोहम्मद के विचारों से प्रेरित, इस दिन समाज में सद्भाव और करुणा की भावना को और बढ़ाए।”

छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उइके ने भी मिलाद-उन-नबी के अवसर पर प्रदेशवासियों को मुबारकबाद दी है। अपने संदेश में राज्यपाल ने कहा है कि पैगम्बर हजरत मोहम्मद का जन्मदिन ईद-ए-मिलाद (मिलाद-उन-नबी) लोगों में प्रेम, समानता और सौहार्द्र का संदेश देता है। यह अवसर गरीबों और जरूरतमंदों की सेवा करने तथा समाज में व्याप्त विषमताओं को दूर कर एकरूपता स्थापित करने पर जोर देता है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी ईद मिलादुन्नबी के मौके पर अपनी शुभकामनाएं दी है। मुख्यमंत्री बघेल ने अपने संदेश में कहा है कि इस दिन दुनियाभर में इस्लाम के संस्थापक पैगम्बर हजरत मोहम्मद साहब का जन्म दिन बड़े जश्न के रूप में मनाया जाता है। हजरत साहब ने अल्लाह के वचनों को लोगों तक पहुंचाया। वे धरती पर अमन और भाईचारे का संदेश लेकर आए। पैगम्बर हजरत के विचारों ने एक नई संस्कृति, सभ्यता और नये युग का सूत्रपात किया। उनके संदशों ने लोगों के विचारों और जीवन मूल्यों पर अभूतपूर्व प्रभाव डाला।

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने भी इस मुबारक मौके पर अपनी बधाई दी है। डॉ रमन ने अपने ट्वीटर पर लिखा ” आपसी भाईचारे व सामाजिक एकता के पर्व #EidMiladUnNabi पर समस्त प्रदेशवासियों को दिली मुबारक़बाद। मेरी अल्लाह से यही दुआ है कि एकता व सामाजिक सौहार्द का यह पावन पर्व आप सभी के जीवन में खुशहाली लेकर आये एवं प्रदेशवासियों में प्रेम व स्नेह निरंतर बढ़ता रहे।”