हाथियों के कुनबे में इजाफा, कोरिया के जंगल में जन्मा शावक

गणेश हाथी के शिकंजे से बचने में कामयाब रहा शिक्षक

बैकुंठपुर। कोरिया में आज सुबह आक्रामक गणेश हाथी के शिकंजे में आया शिक्षक किसी तरह बच निकल जान बचा ली। वहीं दल में एक हथिनी ने एक शावक को जन्म दिया है, अब 18 का दल में एक संख्या बढ़ गयी है।जानकारी मिलते ही रेंजर राय सिंह मार्को मौके पर रवाना हो गए।
इस संबंध में खड़गवां रेंजर राय सिंह मार्को का कहना सुबह नेवरी में गणेश हाथी छिपा हुआ था और रास्ते से आ रहे एक शिक्षक को उसने दबोचने की कोशिश की परन्तु वो बच के भाग निकला। जानकारी के अनुसार सोमवार को 18 हाथियो का दल वापस कोरिया पहुंच गया, कोतमा रेंज में टांकी बीट में एक हथिनी ने शावक को जन्म दिया और पूरा दल वापस कोरिया आ गया। दल से अलग चल रहे गणेश ने सुबह छिप कर रामप्रसाद शिक्षक को दबोचने की कोशिश की, परंतु वो बच निकला। वन सूत्रों के अनुसार हाथी छिपा हुआ था। स्कूल पढ़ाने के लिए बाइक पर निकला यह शिक्षक उसे देख नहीं पाया और करीब निकलते ही सूंड से अपने शिकंजे में लेने की कोशिश की जिससे बच निकलने में वह कामयाब रह गया। और उसकी जान बच गई। इधर गणेश हाथी के आने से एक बार फिर ग्रामीणों के दहशत का माहौल है। वही वन विभाग का पूरा अमला हाथी से बचने ग्रामीणों को सलाह दे रहे है।