थाने में घुसकर सिपाही को पीटा,  फिर तीनों साथियों को साथ ले गए

अम्बिकापुरलोगों ने थाने में घुसकर हंगामा मचाते सिपाही की पिटाई कर दी| इसके बाद बिना चालन पटाये पकडे गये तीनो युवकों को अपने साथ ले गये|  दरअसल पुलिस चलती कार में सेल्फी लेते पकड़े जाने के बाद चालान नहीं पटाने पर शनिवार रात तीन युवकों को थाने ले आई थी|

इन युवकों ने फोन कर अपने दोस्त और परिजनों को बुला लिया था।

थाने में हंगामा मचा एक सिपाही को पीटा भी। वे इस सिपाही पर मारपीट का आरोप लगा रहे थे। इससे वहां रहे दूसरे पुलिसकर्मी सकते में आ गए।हमलावर मंत्री के करीबी  बताये जाते  हैं|

बताया गया कि युवकों ने सिपाही को नौकरी से निकलवा देने की धमकी दी। इस बीच सीएसपी और टीआई भी पहुंच गए, लेकिन किसी ने हमलावरों पर कार्रवाई  नहीं की । इतना सबकुछ होने के बाद बिना चालान पटाए ही युवक अपने तीनों साथियों को गाड़ी में बैठाकर थाने से लेकर चले  गए।

बताया गया कि हमलावर कांग्रेस पार्टी से जुड़े मंत्री के करीबी लोग बताए गए हैं। मामले में पुलिस ने यश सिंह, वैष्णव, अर्पित मौर्य, दीपक मिश्रा, संकेत सिंह, कुनाल सिंह, अजय कुमार प्रसाद, ललित वैष्णव व अन्य के खिलाफ पुलिस ने धारा 147, 148, 294, 506332, 186, 353 के तहत केस दर्ज किया है।

सेल्फी ले रहे थे

आरोपी यश और अर्पित अपने एक अन्य साथी के साथ शनिवार रात 8 बजे रिंग रोड पर चलती कार में गेट खोलकर सेल्फी ले रहे थे। इसी बीच एएसपी पहुंच गए। उन्होंने यातायात पुलिस को बुलाकर तीनों पर कार्रवाई करने को कहा। पैसा नहीं होने से मौके पर चालान नहीं पटाने पर एएसपी ने तीनों युवकों को अंबिकापुर कोतवाली में भिजवा दिया, ताकि उनकी कार थाने में चालान जमा होने तक खड़ी रहे।

इधर इस मामले पर पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने ट्विट किया और विडिओ भी शेयर किया है-

देखिए  @INCChhattisgarh के नेताओं पर सत्ता की हनक और सनक किस कदर हावी है। क्या इन अपराधियो को @bhupeshbaghel ने खुली छूट दे रखी है जो थाने के अंदर घुसकर कांग्रेसी पुलिस आरक्षक की बेदम पिटाई कर रहे हैं,भद्दी गालियां दे रहे हैं। क्या छत्तीसगढ़ में गुंडे-बदमाशों की सरकार आ गई है?