नहीं रहे मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी,अंत्येष्टि कल

छत्तीसगढ़ में एक दिन का राजकीय शोक

रायपुर | भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी का रविवार को लंबी बीमारी के बाद 90 वर्ष की आयु में निधन हो गया। कैलाश जोशी का लंबे समय से बीमार थे। रविवार सुबह उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ने के बाद सुबह 11 बजे कैलाश जोशी ने अंतिम सांस ली। उनका अंतिम संस्कार उनके गृह नगर हाटपिपल्या में सोमवार को किया जाएगा। उनके परिवार में तीन बेटे एवं तीन बेटियां हैं। उनकी पत्नी तारा देवी का निधन इसी साल सितंबर में ही हुआ है।

मध्य प्रदेश में पहले गैर कांग्रेसी सीएम रहे हैं कैलाश जोशी। उन्होंने 24 जून, 1977 को सीएम पद की शपथ ली थी। लेकिन सीएम पद में रहते ही स्वास्थ्य ठीक न रहने के कारण उन्होंने जनवरी 1978 में सीएम पद से त्यागपत्र दे दिया था। आपातकाल के दौरान 28 जुलाई, 1975 को वे गिरफ्तार हुए थे और 19 माह तक मीसा में नजरबंद भी रहे।कैलाश जोशी मध्यप्रदेश विधानसभा में आठ बार विधायक रहे। वह राज्यसभा एवं लोकसभा के सदस्य भी रहे। कैलाश जोशी भोपाल से साल 2004 से 2014 तक सांसद भी रहे हैं।

कैलाश जोशी के निधन के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा,’कैलाश जोशी वह शख्स थे जिन्होंने मध्य प्रदेश के विकास में प्रमुख योगदान दिया। उन्होंने जनसंघ और भारतीय जनता पार्टी को मध्य भारत में और सशक्त बनाने की दिशा में बड़ी भूमिका निभाई और एक प्रभावी विधायक के रूप में खुद को स्थापित किया। मैं उनके निधन की खबर से दुखी हूं। उनके परिवार और समर्थकों के प्रति मेरी संवेदना है। ऊं शांति।’

छत्तीसगढ़ के राज्यपाल अनुसुईया उइके ने अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। राज्यपाल ने ईश्वर से प्रार्थना की है कि दिवंगत आत्मा को शान्ति प्रदान करे और शोक संतप्त परिजनों को इस दुख को सहन करने की शक्ति दे।

एमपी के पूर्व सीएम जोशी के निधन पर छत्तीसगढ़ में 1 दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है। राजकीय शोक में राज्य में कोई भी सांस्कृतिक गतिविधियां आयोजित नहीं की जाएंगी वहीं राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके रहेंगे। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व सीएम जोशी के निधन पर ट्वीट कर लिखा- ‘मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री कैलाश जोशी जी के निधन की दुःखद सूचना प्राप्त हुई. मैं ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति हेतु प्रार्थना करता हूं. ईश्वर शोकाकुल परिवार को यह दुःख सहन करने की शक्ति दे.’

पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी के निधन पर भाजपा में शोक की लहर
अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी के निधन पर भाजपा के नेताओं व पदाधिकारी कार्यकर्ताओं ने गहरा शोक व्यक्त किया है। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि कैलाश जोशी हमारे पालक थे। उनका आशीर्वाद स्नेह हमें सदैव मिलता रहा है ।वह हर युग में संगठन के शिल्पी की तरह याद किए जाएंगे। मध्य प्रदेश के साथ-साथ छत्तीसगढ़ के संगठन के विस्तार में उनका कार्य अनुकरणीय रहा है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी कुशल संगठनकर्ता थे। उनके नेतृत्व में हमारी विचारधारा को मजबूती मिली। उनका योगदान समाज जीवन में हमेशा आदर्श रहेगा।

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि अविभाज़ित मध्य प्रदेश के पहले ग़ैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री स्वर्गीय जोशी संगठन के आधार थे। वे एक कर्मयोगी कार्यकर्ता के रूप में हमारी स्मृतियों में रहेंगे। उनके बताए मार्ग पर चलकर हमें संगठन को मजबूत करते हुए समाज जीवन के लिए और बेहतर कार्य करना होगा। राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री सौदान सिंह, राष्ट्रीय महामंत्री सरोज पांडे, अनुसूचित जनजाति मोर्चा अध्यक्ष रामविचार नेताम, संगठन महामंत्री पवन साय सहित पार्टी के पदाधिकारी, विधायक, सांसद, पूर्व सांसद, पूर्व विधायक, पूर्व मंत्री व कार्यकर्ताओं ने जोशी जी निधन पर गहरा शोक जताते हुए इसे अपूरणीय क्षति कहा।