मरवाही की सीमा पर पहुंचा गणेश हाथी, मौके पर वन अमला

12 हाथियों के दल के साथ अकेला चल रहा गणेश भी पहुंचा

कोरिया। कोरिया जिले के खडगवां परिक्षेत्र और मरवाही की सीमा पर पहुंचे गणेश हाथी की दशहत साफ ग्रामीणों पर देखी जा सकती है, वही वन अमला भी इसकी गंभीरता को समझते हुए ग्रामीणों के बीच पहुंच गया है। ग्रामीणों को समझाइश दी जा रही है। इस संबंध में प्रभारी डीएफओ इमोशतु आओ का कहना है कि आक्रामक गणेश हाथी के अपनी सीमा में आ जाने को लेकर सतर्कता बरती जा रही है। हमे हर हाल में जनहानि न हो इसका ख्याल रखना है।

जानकारी के अनुसार 12 दिसंबर की रात 12 हाथियों के दल के साथ अकेला चल रहा गणेश भी पहुंचा, इस समय हाथियों का दल नेवरी के बैर डाँड़ में रुका हुआ है, बमुश्किल आधे किमी की दूरी पर प्रभारी डीएफओ इमोशतु आओ ग्रामीणों के साथ बैठक की, ग्रामीणों से पूछा कि कोई घर मे शराब तो नही रखता क्योंकि शराब की सुगंध से हाथी जरूर घर म घुस जाया करते है, उन्होंने ग्रामीणों को चिल्ला शोर मचाने न करने की सलाह दी, रात में ग्रामीणों को आंगनबाड़ी या और किसी पक्के मकान में शिफ्ट करने को कहा। ग्रामीणों को बताया गया कि उनका जो भी नुकसान होगा मुआवजा प्रकरण तैयार होगा और उसकी भरपाई की जाएगी।

किसानों की फसल का किया नुकसान
शुक्रवार की रात को पहुंचे हाथियों का दल जिधर से गुजरा पूरा खेत चौपट करते आगे चलते बना, ग्रामीणों ने बताया कि बड़ी संख्या में आये हाथियो ने उनकी फसल को खासा नुकसान पहुंचाया है। रात में फिर आएंगे, जिसके लिए हम लोगो शांति बनाए रखने की तैयारी कर रखे है।