गरियाबंद पुलिस ने 50 लाख के 440 नग हीरा के साथ तस्करों को धर दबोचा

दो हीरा तस्कर एक्टिवा से रायपुर की ओर भाग रहे थे

गरियाबंद | छत्‍तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में 440 नग हीरा आज बरामद किया गया है। तस्‍कर हीरे को फिंगेश्वर मार्ग होते हुए रायपुर की ओर ले जा रहे थे। मुखबिर की सुचना पर घेराबंदी की गई। काफी मशक्‍कत के बाद पुलिस ने दो तस्‍कर को धर दबोचा। पकडे गए तस्‍करों से कड़ी पूछताछ जारी है। फ‍िलहाल, पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। सूचना के आधार पर फिंगेश्वरर पुलिस ने हीरा तस्‍कर को हिरासत में लिया है।

गौरतलब है कि गरियाबंद एसपी भोजराम पटेल के निर्देश पर फिंगेश्वर थाना प्रभारी ने छुरा की तरफ से आने वाले वाहनों को सघनता से चेक करने का आदेश दिया। चेकिंग के दौरान होण्डा एक्टिवा में सवार दो व्यक्ति पुलिस को देखकर भागने लगे, जिसे सजगता से घेराबंदी कर पकड़ा गया। पकड़े गये दोनों व्यक्ति की तलाशी लेने पर आरोपियों के पास से 440 नग हीरा मिला। आरोपियों से पुछताछ करने पर कोई वैध कागजात नहीं दिखा पाए। जिस बिनाह पर  आरोपियों के खिलाफ फिंगेश्वर थाना में माइनिंग एक्ट के तहत मामला दर्ज कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। 

गरियाबंद जिले के पुलिस कप्तान भोजराम पटेल ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि गिरफ्तार किये गए दोनों आरोपी सुभाष मंडल और उज्जवल चंन्द्राकर रायपुर के निवासी हैं। आरोपियों ने कागज की पुड़िया में 440 नग हीरा पत्थर खनिज पदार्थ छुपा रखा था। जिसकी कीमत 50 लाख रूपये आंकी गई है। आरोपियों के पास से एक मोटर सायकल होण्डा एक्टिवा और दो नग मोबाईल करीब 35 हजार कीमत का जब्त किया गया है। 

बता दें छत्तीसगढ़ के गरियाबंद और महासमुंद जिले में पहले भी हीरा  तस्करी के मामले सामने आ चुके हैं|

एसपी भोजराम पटेल ने बताया कि जिले में तस्करों के खिलाफ अवैध गतिविधियों में संलिप्त रहने वालों के खिलाफ लगातार कार्यवाही जारी है। पूर्व में भी माईनिंग एक्ट, वन्यप्राणी अधिनियम, नारकोटिक्स एक्ट, आबकारी अधिनियम के अंतर्गत लगातार कार्यवाही की गई है।