ज्वेलर्स के ठिकाने पर पड़ी रेड में करोड़ों के सोना,चांदी और नगद जब्त

सेन्ट्रल एक्ससाइज़ को है तस्करी का अंदेशा

राजनांदगांव | सेन्ट्रल एक्ससाइज़ की टीम ने छत्तीसगढ़ में बड़ी कार्रवाई की है। दबिश के दौरान राजनांदगांव में मोहनी ज्वेलर्स के ठिकानो पर रेड की गई।  

गौरतलब है कि केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क को कई दिनों से शिकायत मिली थी कि राजनांदगांव के नंदई निवासी मोहनी ज्वेलर्स के संचालक जसराज शांतिलाल बैद किसी तस्करी में लिप्त हैं। जिसके बाद एक टीम बनाकर बैद की पूरी जानकारी खंगाली गई। 1 मई को दोपहर 12 बजे रेवन्यू इंटेलिजेंस के अधिकारियों के साथ सीजी जीएसटी व सेंट्रल एक्साइज की टीम भी रायपुर से नंदई स्थित जसराज शांतिलाल बैद के बंगले पर केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क द्वारा दबिश दी गई। जिसके बाद आज सुबह तक पूरी कार्रवाई चली। इस दौरान  5 हजार किलो चांदी, 4.5 किलो सोना सहित 32 लाख रुपए नगद बरामद किया गया है। 

विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक CBIC (केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क) ने सोना-चांदी से जुड़ी तस्करी को लेकर ही छापेमार कार्रवाई दो दिनों तक ज्वेलर्स के ठिकानों पर की है। केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क के अधिकारी रायपुर से तीन गाड़ियों से सवार होकर ज्वेलर्स के नंदई स्थित मकान में पहुंचे और जांच पड़ताल शुरू कर दी।  केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क की टीम में करीब 12 से अधिक अधिकारी शामिल थे। साथ ही साथ स्थानीय पुलिस की भी मदद ली गई है। इस दौरान किसी को भी अंदर-बाहर आने जाने की इजाजत बिलकुल भी नहीं थी। CBIC की टीम ने 1 मई के पहले रायपुर में 13 किलो सोना समेत 4 आरोपियों को हिरासत में लिया। इनसे कड़ी पूछताछ में राजनांदगांव मोहनी ज्वेलर्स की संलिप्तता दिखाई दी। जिसके बाद टीम ने इसी सुराग पर आगे की कार्रवाई की और राजनांदगांव पहुंचे।

आज CBIC की टीम जब लौटी तो किसी भी प्रकार की जानकारी मीडिया को नहीं दी। जांच में शामिल अधिकारी सीधे रायपुर के लिए रवाना हो गए। केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क की टीम में करीब 12 से अधिक अधिकारी शामिल थे। साथ ही साथ स्थानीय पुलिस की भी मदद ली गई है। 

राजनांदगांव के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कविलाश टंडन के अनुसार मोहनी ज्वेलर्स के मकान से 5 टन चांदी, साढ़े चार किलो सोना व 32 लाख रुपए नगद CBIC ने बरामद किया है। टंडन ने कहा कि यह कार्रवाई केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क की टीम ने रायपुर से मिले इनपुट के आधार पर की है। फिलहाल अभी आगे की कार्रवाई जारी है।