मैरिज ब्यूरो की आड़ में मानव तस्करी, युवतियां बरामद, गिरोह के 5 गिरफ्तार

2 नाबालिग युवतियों को डेढ़ डेढ़ लाख में मैरिज ब्यूरो की संचालिका ने बेच  दिया था

कोंडागांव । बस्तर की कोंडागांव पुलिस ने मैरिज ब्यूरो की आड़ में मानव तस्करी गिरोह का पर्दाफाश किया है|  फरसगांव इलाके की 2 नाबालिग युवतियों को डेढ़ डेढ़ लाख में मैरिज ब्यूरो की संचालिका ने म.प्र. के गुना में बेच  दिया था।गुना की पुलिस की मदद से दोनों नाबालिगों की बरामद किया। इस मामले में मैरिज ब्यूरो की संचालिका समेत 5 को गिरफ्तार किया है ।

पुलिस के मुताबिक फरसगांव थाना इलाके की 2 नाबालिग लड़कियों के गुम होने के सूचना पर  30 नवंबर को अपराध पंजीबद्ध किया गया था। पतासाजी के दौरान 2 नाबालिग में से 1 नाबालिग लड़की जिला गुना मप्र में होने की जानकारी मिली थी।

एस पी सिद्धार्थ तिवारी के निर्देशन में तत्काल टीम गठित कर जिला गुना मप्र के लिए रवाना किया गया। पुलिस ने गुना की पुलिस की मदद से दोनों नाबालिगों की छुड़ाया गया ।

इन लड़कियों ने बताया कि दोनों नाबालिग लड़कियां जगदलपुर में जगदम्बा होटल की संचालिका गायत्री से मिली थी। दोनों नाबालिग लड़कियों को गायत्री राव  बहला फुसलाकर रायपुर ले गयी।

रायपुर में एक मैरिज ब्यूरो ले जाकर संचालिका ममता अग्रवाल के पास ले कर गयी थी। रायपुर में ममता अग्रवाल, गायत्री राव और शिवपाल  तीनों ने नाबालिग लड़कियों का उम्र  बढ़ा कर  आधार कार्ड में कूट रचना की फर्जी दस्तावेज तैयार कर दोनों नाबालिग लड़कियों को  गुना ले गई|

मैरिज ब्यूरो संचालिका ममता ने शादी कराने के एवज में राकेश कुमार जैन  निवासी गुना  से 1 लाख 50 हजार रूपये  तथा गोविन्द शर्मा  निवासी पराट से 1 लाख 40 हजार रुपये लिये थे ।

बताया गया कि गायत्री बस्तर इलाके से नाबालिगों को काम का प्रलोभन देकर रायपुर में ममता तक पहुंचाती थी। इसके बाद ममता अपने मैरिज ब्यूरो की आड़ में नाबालिगों की कथित तौर पर शादी करवा दिया करती थी। इसके एवज में मोटी रकम लेती थी।