हजयात्री को पूरा मुआवजा दे जेट एयरवेज-उपभोक्ता फोरम

दो साल बाद उपभोक्ता फोरम का फैसला

राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ यातायात महासंघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष, जिला मिनी बस आपरेटर संघ के जिलाध्यक्ष तथा वरिष्ठ कांग्रेसी नेता रईस अहमद शकील द्वारा जिला उपभोक्ता फोरम रायपुर में की गई हज यात्रा के दौरान जेट एयरवेज की फ्लाईट में सामान चोरी होने की शिकायत के मामले में सुनवाई पूरी हुई। उपभोक्ता फोरम में रईस अहमद की जीत हुई है। फोरम ने रईस अहमद के पक्ष में फैसला सुनाते हुए जेट एयरलाइंस कंपनी को संपूर्ण गुम हुए सामानों की कीमत, शारीरिक व मानसिक क्षति सहित संपूर्ण व्यय दिलाने का आदेश पारित किया है।

रईस अहमद शकील ने बताया कि वे सन् 2017 में हजयात्रा में जाने के लिए जेट एयरवेज की फ्लाईट में विशाखापट्नम में मुम्बई तथा मुम्बई से जद्दा व व वापसी के लिए जद्दा से मुम्बई तथा मुम्बई से विशाखापट्नम के लिए टिकट बुक कराया गया था। वे 18 सितंबर 2017 को हजयात्रा पूरी कर मुम्बई से विशाखापट्नम वापस लौट रहे थे। उनके साथ महत्वपूर्ण शासकीय दस्तावेज आधार कार्ड, पेन कार्ड, ड्राईविंग लाईसेंस, मतदाता परिचय पत्र आदि बैग में था।

यात्रा के दौरान जेट एयरवेज कंपनी के अधिकारी व कर्मचारियों की लापरवाही के चलते उनका बैग गुम हो गया। वे इसकी शिकायत जेट एयरवेज के बैगेज क्लेम विभाग में की, लेकिन कंपनी द्वारा उनकी शिकायत का कोई निराकरण नहीं किया गया। इसके बाद रईस अहमद ने शहर के अधिवक्ता मोहम्मद हसन भाई के माध्यम से उपभोक्ता फोरम रायपुर के समक्ष न्याय दिलाने के लिए परिवाद प्रस्तुत किया। दो वर्ष तक चली सुनवाई के बाद उपभोक्ता फोरम ने 5 दिसंबर 2019 को रईस अहमद शकील के पक्ष में फैसला सुनाते हुए जेट एयरवेज कंपनी को संपूर्ण गुम हुए सामानों की कीमत, शारीरिक व मानसिक क्षति सहित संपूर्ण व्यय दिलाने का आदेश पारित किया है।