बस्तर संभाग मुख्यालय से शुरू मधुर गुड़ योजना

महापौर और सभापति ने किया पदभार ग्रहण

जगदलपुर। खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने आज जगदलपुर में मधुर गुड़ योजना का शुभारंभ किया, जगदलपुर स्थित मिशन कम्पाउंड ग्राउंड में आयोजित महापौर और सभापति पदभार ग्रहण कार्यक्रम में मधुर गुड़ योजना का शुभारंभ किया।

इस अवसर पर  मंत्री भगत ने कहा कि शरीर में आयरन की कमी, एनीमिया और कुपोषण जैसी समस्याओं के निदान में  यह योजना कारगर साबित होगी। इस योजना का लाभ बस्तर संभाग के 6 लाख 59 हजार से अधिक गरीब परिवारों को मिलेगा, मधुर गुड़ योजनांतर्गत प्रत्येक गरीब परिवार को 17 रुपए प्रति किलो की दर पर 2 किलो गुड़ प्रतिमाह दिया जाएगा। इस योजना के क्रियान्वयन में हर साल 50 करोड़ खर्च किए जाएंगे तथा 15 हजार 800 टन गुड़ उपलब्ध कराया जाएगा,खाद्य मंत्री ने इस अवसर पर मधुर गुड़़ तथा मलेरियामुक्त बस्तर प्रचार रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना भी किया।

उन्होंने इस अवसर पर हितग्राहियों को मधुर गुड़ और एपीएल उपभोक्ताओं को राशन कार्ड भी वितरित किया, श्री भगत ने इस अवसर पर नवनिर्वाचित महापौर और सभापति सहित सभी पार्षदों को बधाई और शुभकामनाएं दीं।

जिले के प्रभारी मंत्री डा. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने इस अवसर पर कहा कि महिलाएं और बच्चों में कुपोषण दूर होने से परिवार और समाज मजबूत होगा और इससे मजबूत छत्तीसगढ़ का सपना साकार होगा,सुपोषित और स्वस्थ छत्तीसगढ़ की कल्पना को साकार करने के लिए कुपोषित बच्चों के साथ ही किशोरी और गर्भवती महिलाओं को गर्म भोजन और पोषण आहार दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लिनिक योजना के माध्यम से गांव-गांव में पहुंचकर लोगों का उपचार किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ सरकार सभी क्षेत्रों में विकास के लिए प्रतिबद्ध है।

उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि गरीब परिवारों को न्यूनतम दर पर चावल और गुड़ देने वाला पहला राज्य है। इसके साथ ही कुपोषण दूर करने के लिए स्कूल और आंगनबाड़ियों में बच्चों को अंडा देने का कार्य भी इस सरकार द्वारा किया जा रहा है। समरोह में सांसद दीपक बैज, कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम, जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन ने भी संबोधित किया और नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को बधाई और शुभकामनाएं दी।

नवनिर्वाचित महापौर श्रीमती सफीरा साहू ने स्वागत भाषण में अपनी प्राथमिकताएं बताई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के संसदीय सलाहकार राजेश तिवारी, चंदन कश्यप, राजमन बेंजाम, पूर्व महापौर जतीन जायसवाल, खाद्य सचिव डा. कमलप्रीत सिंह, नगरीय प्रशासन सचिव  निरंजन दास, कमिश्नर अमृत कुमार खलखो, पुलिस महानिरीक्षक पी सुंदरराज, मुख्य वन संरक्षक मोहम्मद शाहिद, कलेक्टर डा. अय्याज तम्बोली, पुलिस अधीक्षक दीपक झा, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  इंद्रजीत सिंह चंद्रवाल, नगर निगम आयुक्त  अरविंद एक्का सहित जनप्रतिनिधिगण, आदि मौजूद थे।