नहीं होगा महंत सर्वेश्वर दास अखिल भारतीय हॉकी स्पर्धा का आयोजन

भाजपा ने कलेक्टर को स्पर्धा करने सौपा ज्ञापन

राजनांदगांव | राजनांदगांव में रियासत कालीन समय से महंत सर्वेश्वर दास अखिल भारतीय हॉकी स्पर्धा का आयोजन होता आ रहा है। यही कारण है कि संस्कारधानी राजनांदगांव को हॉकी का नर्सरी भी कहा जाता है। राजनांदगांव से ही कई हॉकी खिलाडी आज देश का नाम भी रौशन कर रहे है। यशी विशेषताओं के कारण विश्व पटल पर राजनांदगाव का विशेष पहचान है। हॉकी के जादूगर ध्यानचंद सहित कई दिग्गज खिलाडियों ने शहर के बिच बने दिग्विजय स्टेडियम में कई टूर्नामेंट खेले हैं। इस प्रतियोगिता के आयोजन से शहर स्वयं को एक ऊँचे स्थान पर जुड़ा हुआ महसूस करता है।

भाजपा ने कलेक्टर को दिया ज्ञापन
महंत सर्वेश्वर दास अखिल भारतीय हॉकी स्पर्धा को अचानक ही समेटने की सुचना मिली। जिसके बाद से ही शहर वासियों में एक रोष देखा जा रहा है। वही इस खेल के नहीं होने की जानकारी के बाद इसमें राजनितिक रंग चढ़ता नजर भी आ रहा है। भाजपा के जिला पदाधिकारियों ने अपनी एकजुटता दिखते हुए आज राजनांदगांव कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। जिसमे महंत सर्वेश्वर दास अखिल भारतीय हॉकी स्पर्धा के लिए राज्य सरकार द्वारा राशि प्रदान नहीं करने का विरोध जताया गया है। साथ ही सरकार के द्वार फण्ड जारी नहीं किये जाने पर जन सहयोग से राशि एकत्रित कर आयोजन समिति को दिए जाने का उल्लेख भी किया गया है, ताकि प्रतियोगिता का आयोजन सुचारू रूप से किया जा सके।

सरकार पर आरोप
कलेक्टर को ज्ञापन सौपने के बाद भाजपा के पदाधिकारिओं ने भूपेश सरकार को खेल विरोधी करार दिया है। शहर के पूर्व महापौर मधुसूदन यादव ने सीधे तौर पर सरकार पर आरोप लगते हुए कहा कि इस तरह गुपचुप तरीके से महंत सर्वेश्वर दास अखिल भारतीय हॉकी स्पर्धा को नहीं करवाना शहर की पहचान को धूमिल करने का प्रयास माना जायेगा। मधुसूदन यादव ने कहा कि महंत सर्वेश्वर दास अखिल भारतीय हॉकी स्पर्धा 2020 में होने वाले आयोजन को राज्य सरकार द्वारा दिए जाने वाले फंड के अभाव में निरस्त किया जाना अत्यंत ही निंदनीय और चिंताजनक है।

जनसहभागिता से जुटाएंगे फण्ड
भारतीय जनता पार्टी के अन्य पदाधिकारियों ने भी सरकार द्वारा हॉकी स्पर्धा को बंद किए जाने को राजनांदगांव शहर के प्रति षड्यंत्र और कुत्सित प्रयास बताया है। भाजपा के सदस्यों का साफ कहना है कि सरकार के इस षड्यंत्र को सफल होने नहीं दिया जायेगा। जिसे किसी भी परिस्थिति में सफल होने नहीं दिया जाएगा। यह स्पर्धा के लिए राज्य सरकार द्वारा पूर्व में जितनी भी राशि भेजी जाती थी उसको पूरे राजनांदगांव जिले से जन सहयोग के माध्यम से संग्रहित कर आयोजन समिति को दिए जाने की बात भाजपा ने कही है। वहीं भाजपा के पदाधिकारियों ने ये भी कहा कि प्रति वर्ष होने वाले इस प्रतियोगिता को यदि राज्य सरकार किसी भी तरह की रुकावट पैदा करती है, तो भारतीय जनता पार्टी द्वारा उग्र आंदोलन किया जाएगा।