धान का रक़बा घटाने पर गर्भगृह में पंहुचा विपक्ष, निलंबन…

गाँधी मूर्ति के समक्ष भी किया ज़ोरदार प्रदर्शन

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में धान का रकबा कम किए जाने पर विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया। भाजपा और जनता कांग्रेस के तमाम विधायकों ने इस मामले पर तीखे तेवर दिखाते हुए गर्भगृह तक जा पहुंचे, जिसके बाद विधानसभा अध्यक्ष ने कुल 15 विधायकों को सदन की कार्यवाही से निलंबित किया। इस निलंबन के बाद समूचा विपक्ष नेता प्रतिपक्ष और दो पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह और अजीत जोगी के नेतृत्व में महात्मा गांधी की मूर्ति के समक्ष बैठकर नारेबाजी करने लगा, और इस मामले पर सरकार से रकबा बढ़ाने की मांग पर अड़े रहे।
दरअसल शून्यकाल में धान का रकबा कम किए जाने के मामले को उठाते हुए विपक्ष ने स्थगन प्रस्ताव लाकर चर्चा की मांग रखी। खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने रकबे में कटौती के संबंध में निर्देश नहीं दिए जाने की जानकारी आसंदी को दी, जिस पर आसंदी ने यह स्थगन प्रस्ताव अग्राह्य कर दिया। इसी मामले पर विपक्ष ने आपत्ति जताते हुए हंगामा शुरू किया। जिस पर सदन की कार्रवाई को स्थगित भी करना पड़ा था। हालाँकि इस मसले पर संसदीय कार्य मंत्री रवींद्र चौबे के आश्वासन पर विपक्ष ने हंगामा खत्म कर सदन में वापसी की। इधर विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने सभी निलंबित सदस्यों को बहाल किया और सभी सदस्य सदन की कार्यवाही में फिर से शामिल हुए।

खुल कर चर्चा हो – कौशिक
इधर नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि किसानों के हित में जुड़े इस मामले पर सरकार को खुलकर चर्चा करनी चाहिए। किसान हितैषी सरकार है तो किसानों के मसलों पर खुलकर चर्चा भी हो। विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि सूबे के एक बड़े अफसर ने जिला स्तर के तमाम अधिकारियों को निर्देशित किया है कि धान का रकबा कम किया जाए। गौरतलब है कि 27 लाख 23 हजार हेक्टेयर रकबा पंजीकृत है, जिसमें 1 लाख 62 हजार रकबे की बढ़ोतरी दर्ज़ हुई है। इधर राज्य सरकार ने कलेक्टर और पुलिस अधीक्षकों के साथ डीएफ़ओ को भी राज्य के सीमावर्ती इलाकों में अवैध धान परिवहन को लेकर सख्त निर्देश दिए है, जिस पर लगातार प्रशासन दिगर राज्यों से आने वाले धान की जप्ती की कार्रवाई भी जारी है।

संबंधित पोस्ट

धान ख़रीदी : 20 दिन में 23 लाख मीट्रिक टन धान की हुई कस्टम मिलिंग

जशपुर के कांसाबेल में ट्रक से 200 क्विंटल धान जप्त

छत्तीसगढ़ विधानसभा का विशेष सत्र 16 जनवरी को…

धान खरीदी : 2 और 3 जनवरी को जारी टोकन का पुनर्व्यवस्थापन

बाजार में बिक नहीं रहा, सोसायटी खरीद नहीं रही, क्या होगा कर्ज का…

बारदाने में स्टम्पिंग ठीक नही होने पर भड़के मुख्य सचिव मंडल

कोरिया : सख्ती ऐसी कि खरीदी केंद्रों से बरामद होने लगे लावारिश धान

बिना पंजीयन वाले छोटे किसान नहीं बेच पा रहे धान

शीतकालीन सत्र का अवसान, विधानसभा अध्यक्ष डॉ महंत ने जताया आभार

छत्तीसगढ़ में धान खरीदी शुरू, 85 लाख मैट्रिक टन का लक्ष्य

Big News : धान खरीदी और बोनस राशि बढ़ाने नक्सलियों ने लगाए बैनर

विधायक को जान से मारने की दी धमकी, धारा 151 के तहत हुई कार्यवाही…हंगामा