महासमुंद जिले में अलग-अलग सड़क हादसों में 3 बाइक सवार की मौत

एनएच 53 पर तेज रफ्तार से हादसे बढ़ने लगे, ट्रैफिक नियमो का पालन नहीं 

रजिंदर खनूजा, पिथौरा|महासमुंद जिले में मंगलवार को दो अलग-अलग सड़क हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई| पहली घटना मुख्यालय के कलेक्टोरेट कार्यालय रोड में हुई जिसमें ट्रैक्टर की ठोकर से स्कूटी सवार की मौत हो गई|वहीं दूसरी घटना एनएच 53 में नवागांव मोड़ के पास हुई जिसमें कंटेनर की ठोकर से बाइक सवार दो की मौत हो गई|मामले में पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पीएम करा परिजनों को सौंप दिया है और चालकों के खिलाफ जुर्म दर्ज करने की बात कही है|

जानकारी के मुताबिक सुबह करीब 10 बजे कुर्मीपारा निवासी प्रांजल चंद्राकर पिता योगेश चंद्राकर स्कूटी क्रमांक सीजी 04 एमजे 1998 से मचेवा से घर की ओर आ रहा था| इसी दौरान पीछे से आ रहा ट्रैक्टर क्रमांक सीजी 06 जीसी 1412 ने ठोकर मार दी जिससे वह गिर गया और ट्रैक्टर का पहिए से सिर कुचल गया और मौके पर ही उसकी मौत हो गई|

घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई. घटना के बाद ट्रैक्टर चालक मौके से फरार हो गया.|

इधर, पटेवा थाना एनएच 53 में दोपहर 12 बजे रायपुर से पिथौरा की ओर जा रही कंटेनर ने सामने से आ रही बाइक सवार को ठोकर मार दी जिससे बाइक सवार दो युवकों की मौके पर मौत हो गई|

पुलिस ने बताया कंटेनर क्रमांक एनएल 01 एडी 4196 रायपुर से पिथौरा की ओर जा रही थी वहीं पिथौरा की ओर से आ रही बाइक   सीजी 04 केए 0664 को सामने से ठोकर मार दी जिससे बाइक सवार आरंग थाना ग्राम चिखली निवासी ललित निषाद पिता सहस  और ग्राम दतार थाना रोहांसी निवासी टोमन निषाद की मौत हो गई|

घटना के बाद कंटेनर चालक मौके से फरार हो गया|राहगीरों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को पीएम के लिए भेज दिया|

पुलिस ने बताया कि घटना कंटेनर चालक की वजह से हुई है. मामले में चालक के खिलाफ 304 के तहत मामला दर्ज किया जाएगा।

ट्रैफिक नियमो का पालन नहीं 
राष्ट्रीय राज मार्ग फोरलेन फ़ास्ट हाइवे प्रतिदिन लहुलुहान हो रहा है।इसके पीछे मुख्य कारण दुपहिया चालको को ट्रैफिक नियमो की जानकारी नही होना समझा जा रहा है।

फ़ास्ट हाइवे पर चलने से पता चलता है कि दुपहिया चालक अपनी दुपहिया दो लेन के बाहर चलाने की बजाय चार पहिया वाहनों की तेज रफ्तार के बीच चलाना पसन्द करते है।जिससे हमेशा जान जोखिम में रहती है।फोरलेन पर वाहनों की अत्यधिक रफ्तार के बीच जो दुपहिया आते है वही दुर्घटना का शिकार हो रहे है।क्योंकि तेज रफ्तार ट्रकों का अचानक रुकना असम्भव होता है

लिहाजा ग्रामीण क्षेत्र के दुपहिया चालको को फोरलेन ट्रैफिक नियमो की जानकारी दी जानी चाहिए जिससे कि क्षेत्र के नॉजवानो का सड़क पर बहता खून रोका जा सके।

संबंधित पोस्ट

महासमुंद : होटल में सेक्स रैकेट , गिरफ्तार ग्राहकों में भाजपा नेता भी

महासमुंद: तेंदुआ व हिरण के खाल के साथ 3 आरोपी गिरफ्तार

महासमुंद: खरीदी केंद्र बदलने से नाराज किसानों ने ताला जड़ा, अफसर बंधक  

महासमुंद : फिर दीगर राज्यों को जा रहे 200 मजदूर गाँव लौटाए जा रहे

पिथौरा इलाके से एक बार फिर दलालों के चंगुल में फंसे मजदूरों का पलायन शुरू

महासमुंद: स्कूली छात्रा से स्कूल में ही बलात्कार, मामला दर्ज

महासमुंद: सरायपाली के इस गाँव में मृतकों के नाम से भी राशन वितरण

महासमुंद: ट्रक में चेम्बर बनाकर और लग्जरी कार से शराब की तस्करी, 7 गिरफ्तार  

महासमुंद : खेत में काम कर रहे किसान को हाथी ने पटक मारा

महासमुंद: पिथौरा ईंट व्यवसायी के घर कट्टे के बल पर लूट की कोशिश, 1 गिरफ्तार

महासमुंद: सरायपाली में जुआ खेलते 3 गिरफ्तार, ताश पत्ती और नगदी जब्त

महासमुंद : सेंधमारी-चोरी के चार आरोपी गिरफ्तार, सामान बरामद