कसडोल इलाके में मादा साम्भर का शिकार, 7 आरोपी गिरफ्तार

कच्चा-पका मांस एवम सिर सहित शिकार में प्रयुक्त जी आई तार, कुल्हाड़ी आदि बरामद

रजिंदर खनूजा, पिथौरा| महासमुंद जिले के पिथौरा से लगे  बलौदाबाजार जिले के कसडोल क्षेत्र में वन्यप्राणी साम्भर का शिकार करने वाले 7 आरोपियों को वन विभाग की टीम ने गिरफ्तार किया है| आरोपियों के पास से  कच्चा -पका हुए मांस एवम सिर सहित शिकार में प्रयुक्त जी आई तार, कुल्हाड़ी आदि बरामद किया गया । सभी आरोपियों के खिलाफ वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 के विभिन्न धाराओं के तहत कार्यवाही की गई है।

विभागीय सूत्रों  के अनुसार नवपदस्थ वनमंडलाधिकारी के. आर. बढ़ई, उप वनमंडलाधिकारी कसडोल यू.एस.ठाकुर के निर्देशन मे बुधवार को वन परिक्षेत्र अधिकारी सोनाखान गोविंद सिंह के नेतृत्व में टीम गठित कर देवपुर परिक्षेत्र के ग्राम चन्हाट से लगे वन परिक्षेत्र सोनाखान के कक्ष क्रमांक 247 चन्हाट बांधा के पास विद्युत करंट फैलाकर सांभर शिकार की सूचना पर दबिश देकर, झंगलू  , ग्राम चन्हाट को स्वयं के खेत  में वन्यप्राणी मादा सांभर के मांस को पकाते हुए रंगे हाथ पकड़ा गया|

उसके बयान के आधार पर शिकार से संलिप्त अन्य 06 आरोपियों. विश्राम  यादव  उम्र , शाखाराम पटेल, दिलमोहन पटेल, भेषराम   पटेल , सोनसिंग यादव, जगनू  यादव सभी  ग्राम चन्हाट को पकड़ा गया। आरोपियों के पास से तलाशी के दौरान वन्यप्राणी मादा सांभर का सिर 01 नग खाल (चमड़ा), पैर 04 नग, कच्चा मांस एवं पका हुआ मांस सहित कुल 25.57कि.ग्रा. मांस बरामद किया गया|

शिकार हेतु प्रयोग में लाये गये जी आई तार 03 बंडल, कुल्हाड़ी 1 नग, परसूल 2 नग, बांस खुंटी 15 नग, लकड़ी गेंड़ा 02 नग,  सागौन खुटला 01 नग को जब्त  कर   न्यायालयीन कार्यवाही की तैयारी की गयी।

बता दें इसके पहले भी साम्भर शिकार के अलावा अन्य वन्य जीव् के शिकार के मामले सामने आ चुके है | ज्यादातर मामलों में आरोपी  करंट का उपयोग करते है | जंगलों से गुजरते उच्च दाब वाले बिजली तार से करंट  वन इलाकों में आसन हथियार बना हुआ है|