महुआ बीनने गये बुजुर्ग दंपत्ति को हाथियों ने पटक मार डाला

घटना बलौदा बाजार वन मंडल के वन परिक्षेत्र लवन के ग्राम खैरा(ब) की

रजिंदर खनूजा, पिथौरा| जंगल में महुआ बीनने गए बुजुर्ग दंपत्ति को हाथियों ने पटक पटक कर मार डाला। घटना बलौदा बाजार वन मंडल के वन परिक्षेत्र लवन के ग्राम खैरा(ब) की है|

ग्रामीण सूत्रों के अनुसार ग्राम खैरा निवासी डेरहा राम अपनी पत्नी रानी बाई के साथ सुबह 9:00 बजे गांव के नजदीक जंगल में महुआ बीनने गए थे। इस दौरान अचानक दो हाथी उनके समीप ही पहुच गए। जिन्हें देख कर उक्त दम्पत्ति भागने लगे परन्तु हाथी भी आक्रोशित होकर उनके पीछे भागे| अंतत हाथियों ने पकड़कर   पटक पटक कर मार डाला ।

घटना की जानकारी तब हुई जब जंगल गए अन्य ग्रामीणों को दोपहर बाद उक्त दम्पत्ति के कुचले शव दिखाई दिए। घटना की जानकारी पूरे क्षेत्र में जंगल मे आग की तरह फैल गयी जिससे गांव में शोक का माहौल व्याप्त हो गया।

 हाथी अलर्ट भी नहीं

इधर ग्रामीणों ने वन विभाग पर गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा है कि क्षेत्र में अक्सर हाथियों का आना जाना होता रहता है परन्तु वन विभाग को अब ग्रामीणों की चिंता नही है लिहाजा अब हाथी के क्षेत्र में होने का अलर्ट भी जारी नहीं  किया जाता|

ग्रामीण बेख़ौफ़ अपने कृषि कार्य एवम वनोपज संग्रहन कार्य मे जंगल चले जाते है और अकस्मात हिंसक प्राणियों की चपेट में आकर अपनी जान गँवा  देते है।कल की घटना भी वन विभाग द्वारा अलर्ट जारी नहीं करने के कारण ही होने की बात ग्रामीण कर रहे हैं|

ज्ञात हो कि उक्त क्षेत्र में हाथियों का आवागमन लगातार लगा रहता है।हाथियों की आमद से वन अमला भी स्वयम को असुरक्षित महसूस कर रहा है।हाथियों से ग्रामीणों को बचाने गजराज वाहन भी कार्यालय में खड़े-खड़े धूल खा रहा है।

ग्राम वासियों एवं कांग्रेस कमेटी के संयुक्त सचिव देखन ध्रुव ने इस दुर्घटना से आक्रोशित होकर वन परिक्षेत अधिकारी को निलंबित करने की मांग की है। एवं मृतकों के परिजनों को तत्काल मुआवजा देने की मांग की है।

 वन अधिकारी पहुंचे

घटना की सूचना के बाद वन मण्डलाधिकारी बलौदाबाजार  एवम वन संरक्षक रायपुर मृतकों के घर शोक संवेदना व्यक्त करने पहुचे।रेंजर एन के सिन्हा ने बताया कि अधिकारियों ने मृतक परिवार से मुलाकात कर तात्कालिक सहायता 20 20 हजार रुपये प्रदान की शेष मुआवजा राशि 6 – 6 लाख रुपये का भुगतान भी शीघ्र ही कर दिया जाएगा।