CSEB के प्रशासनिक भवन में लगी आग से दस्तावेज राख,जाँच शुरू

मुख्यमंत्री भूपेश ने स्वयं लिया संज्ञान

रायपुर | राजधानी के CSEB प्रशासनिक भवन मे बुधवार देर रात लगी आग को कड़ी मशक्कत के बाद बुझा लिया गया। लेकिन इस आग मे बिजली विभाग से जुडी कई अहम दस्तावेज जलकर रख हो गया है। रात 11 बजे लगी आग से पुरे महकमे में हड़कंप मच गया था। सरस्वती थाने में इस पुरे मामले को दर्ज किया गया है जिसकी जाँच भी की जा रही है। प्रथम दृष्टया आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है। रात होने के कारण दुर्घटना में कोई घायल नहीं हुआ है।

डगनिया प्रशासनिक भवन में लगी आग का जायजा CSEB के अध्यक्ष शैलेन्द्र शुक्ल ने लिया। आग से हुए नुक्सान के लिए शुक्ल ने अधिकारीयों को लापरवाही को लेकर फटकार भी लगाई। इधर पुलिस ने मामले को दर्ज कर विभिन्न पहलुओं पर जाँच करने की बात कही है। आग लगने को लेकर संदेहों पर भी ध्यान दिया जा रहा है,ताकि कोई शरारतीपूर्ण कार्य को भी अनदेखा नहीं किया जा रहा है।

जले दस्तावेज का किया जा रहा है आकलन
CSEB के प्रशासनिक भवन में हलाकि आग से जरुरी फाइलें तो जल गई है। जिसका आकलन अभी भी किया जा रहा है। उल्लेखनीय है की ऊर्जा विभाग मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पास है। यही कारण है की सीएम ने अपने प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी को आग से नुक्सान की पूरी जानकारी देने कहा है। माना जा रहा है की शाम तक ही नुक्सान की जानकारी मिल पायेगी। सबसे बड़ी बात ये है की CSEB का प्रशासनिक भवन होने के कारण प्रदेश भर के बिजली कार्यालयों के महत्वपूर्ण दस्तावेज इसी भवन में रखा जाता है। ऐसे में इतनी भयानक आग लग जाना बिना जाँच के समझना मुश्किल है। मामले की गंभीरता से जांच की जारही है।