शिक्षाकर्मी बनने बन गए थे बहरे, फ़र्ज़ी निकला प्रमाण पत्र दो गिरफ़्तार…

नौकरी पाने के लिए साल 2005 में बनवाया था फ़र्ज़ी बधिर प्रमाण पत्र

पिथौरा। समीप के ग्राम सरकड़ा एवम अमलीडीह में 2005 से शिक्षाकर्मी पद में पदस्थ भाई बहन को फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर नियुक्ति पाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। एक अन्य आरोपी आरोपियों के चाचा विनोद सिन्हा फरार को पुलिस ने फरार बताया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सन 2005 में शिक्षा कर्मी भर्ती के दौरान पिथौरा के समीप सरकड़ा निवासी आरोपी राकेश सिन्हा पिता सीताराम सिन्हा एवम रजनी सिन्हा पिता सीताराम सिन्हा द्वारा फर्जी बधिर (बहरा) होने का प्रमाण पत्र पेश कर आरक्षण का लाभ लेते हुए शिक्षा कर्मी की नौकरी हासिल कर ली थी।इस दौरान एक अन्य प्रार्थी हीरा निषाद ने इसकी शिकेयत भी की थी।परन्तु उस समय किसी तरह मामला निपटा दिया गया था।इधर विगत दिनों एक युवक डालेस्वर पटेल ने उक्त दोनों फर्जी प्रमाण पत्र की पुस्टि हेतु जिला अस्पताल से सूचना के अधिकर के तहत बधिर प्रमाण पत्र की जानकारी हेतु आवेदन लगाया था।जिस पर जिला अस्पताल से पटेल को उक्त दोनों आरोपियों के नाम से कोई भी बधिर(दिव्यांग)प्रमाण पत्र जारी नही किये जाने की जानकारी दी।इसके बाद पटेल ने उक्त दोनों शिक्षा कर्मियों के विरुद्ध प्रमाण के साथ स्थानीय पुलिस में शिकायत दर्ज करायो।शिकायत को संज्ञान में लेते हुए थाना प्रभारी कमला पुसाम ने जांच प्रारम्भ की एवम जांच में दोनों के प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए। पुसाम ने बताया कि आज ही राकेश एवम रजनी को फिरफ्तार किया गया।अपने बयान में एक आरोपी राकेश ने बताया कि उनका कान ठीक है परन्तु उन्हें उनके चाचा विनोद सिन्हा ने ही प्रमाण पत्र बना कर दिया है।राजेश के बयान के बाद पुलिस ने दोनों शिक्षा कर्मियों के अलावा उनके चाचा विनोद सिन्हा को भी आरोपी बनाया गया है।विनोद अभी पुलिस पकड़ से बाहर है।
ज्ञात हो कि शिक्षा कर्मी भर्ती में अनेक कर्मी अभी भी फर्जी दिव्यांग प्रमाण पत्रों के माध्यम से नौकरी कर रहे है।जबकि वास्तवित विकलांग अभी भी भटक रहे है।

संबंधित पोस्ट

महुआ बीनने गए वृद्ध पर तीन भालुओं ने किया हमला

पिथौरा की ये पार्षद वार्ड के हर घर बाँट रही सब्जियां

बड़ी ख़बर : चीतल गोश्त के साथ हिरासत में सिपाही

अनूठी शादी : सीमा खान बनी हरमीत सिंह की पत्नी, रज़ामंद दोनों परिवार

बड़ी ख़बर : हारा तो वोट के एवज में दिए रकम वापिस ले लिए…

महासमुंद पंचायत चुनावः 5 पर निर्दलियों की अजेय बढ़त

पंचायत चुनाव : महासमुंद की इस सीट पर मुकाबला दिलचस्प

पिथौरा नपं आत्माराम की ताजपोशी तय ?

शिक्षक की दीवानगी ऐसी, शतरंज पर लिखी एक दर्जन किताबें

महासमुंद के पिथौरा इलाके से मजदूरों का पलायन शुरू

यह इश्क है गालिब…20 रुपये के स्टाम्प पर लिख दिया

छत्तीसगढ़ के स्कूलों में होगी शिक्षकों की भर्ती