खलिहान पर रखा 30 कट्टा धान चट कर गया हाथी

रजिंदर खनूजा, पिथौरा| रविवार की रात एक दतैल हाथी सिरपुर क्षेत्र के ग्राम अचानकपुर में कन्हैया लाल ध्रुव नामक किसान के खलिहान पर रखा 30 कट्टा धान खा गया|

मिली जानकारी के अनुसार सिरपुर क्षेत्र के हिंसक हो चुके हाथियों में से एक कल रात अचानकपुर गाँव के किसान कन्हैया लाल ध्रुव के खलिहान पहुच गया। भूखे हाथी ने खलिहान में रबी फसल के ढेरी बना कर रखे धान को निशाना बनाया।

अनुमान के अनुसार खलिहान में हाथी कोई 30 कट्टा धान खा गया।एवं बोरी में रखे धान को बिखेर कर भारी नुक़सान पहुंचाया।

हाथी भगाओ फसल बचाओ समिति के संयोजक राधेलाल सिन्हा ने मीडिया को बताया कि हाथी से परेशान किसान अपने धान को खेत से बचाकर बमुश्किल घर ला रहे हैं। परन्तु हाथी अब खलिहान में रखे धान तक भी पहुच कर उसको खा कर नुक़सान पहुंचा रहे हैं।

रखवाली भी नहीं कर पा रहे

श्री सिन्हा ने बताया कि किसान धान की रखवाली कर भी रहे हैं तो जान का खतरा हमेशा बना हुआ है। ऐसी हालत में किसान अपनी मेहनत से उपजाया धान को कैसे सुरक्षित रखें।

सिरपुर क्षेत्र में तीन दतैल हाथी विचरण कर रहे हैं कब किस गांव में जाकर नुक़सान पहुंचा दे ये पता नहीं चलता। वन विभाग हाथी के नाम पर गम्भीर नही है।शासन द्वारा यदि हाथियों के उत्पात के लिए आवश्यक कदम नहीं उठाये तो एक बार पुनः किसान आन्दोलन करने मजबूर होंगे।

अभी  3 दिन पहले एक हाथी ने खेत में दवा छिड़क रहे किसान को पटक मार डाला था| क्लिक करें देखें वीडियो

संबंधित पोस्ट

महासमुंद जिले के हर ब्लॉक में 100 बिस्तर कोविड केयर सेन्टर

महासमुंद: घर घुसकर महिला की गला रेतकर हत्या

महासमुंद की महिला समूह के बनाये फूलों से हर्बल गुलाल में खुशबू भी

देशव्यापी चक्का जाम को महासमुंद के किसानों का मिला समर्थन

महासमुंद : होटल में सेक्स रैकेट , गिरफ्तार ग्राहकों में भाजपा नेता भी

महासमुंद: तेंदुआ व हिरण के खाल के साथ 3 आरोपी गिरफ्तार

महासमुंद: खरीदी केंद्र बदलने से नाराज किसानों ने ताला जड़ा, अफसर बंधक  

महासमुंद : फिर दीगर राज्यों को जा रहे 200 मजदूर गाँव लौटाए जा रहे

पिथौरा इलाके से एक बार फिर दलालों के चंगुल में फंसे मजदूरों का पलायन शुरू

महासमुंद जिले में अलग-अलग सड़क हादसों में 3 बाइक सवार की मौत

महासमुंद: स्कूली छात्रा से स्कूल में ही बलात्कार, मामला दर्ज

महासमुंद: सरायपाली के इस गाँव में मृतकों के नाम से भी राशन वितरण