Video:करंट से जंगली सुअर का शिकार, 5 गिरफ्तार, मांस जब्त

पिथौरा वन विभाग की कार्रवाई

रजिंदर खनूजा,  पिथौरा| पिथौरा वन विभाग ने  आज करंट से जंगली सुअर का शिकार करने वाले 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है| आरोपियों के पास से शिकार में प्रयुक्त सामग्री सहित सुअर का मांस जब्त किया है|

वन विभाग के अनुसार वन सुरक्षा श्रमिको से सूचना मिलने पर ग्राम मोहदा के  दुखमा बाई  गोड़ ग्राम मोहदा के खेत में विद्युत करंट तार बिछाकर जंगली सुअर का अवैध शिकार किये जाने की सूचना विभागीय अधिकारियों को मिली थी। जिस पर वन परिक्षेत्र अधिकारी, पिथौरा, उप वनमंडलाधिकारी, पिथौरा एवं वनमंडलाधिकारी, महासमुन्द के निर्देशन में तत्काल मौका पहुंचकर आरोपियों को कक्ष क्र. 217 में दबिश देकर सभी आरोपियों  को रंगे हाथ पकड़ लिया गया।

हिरासत में लिये गये आरोपियों का नाम कुमार सिंग ,  संतराम ठाकुर , नेहरु साहू   , गेंदराम ध्रुव  , लोकनाथ   रावत   एवम लालूप्रसाद  यादव  सभी ग्राम मोहदा, थाना – तेन्दूकोना, तहसील – पिथौरा, जिला महासमुन्द के निवासी है।

आरोपियों के पास से बांस की खुटी 19 नग, काला वायर लगभग 150 कि.ग्रा, जी.आई. तार लगभग 01 कि.ग्रा. परसुल 02 नग कत्तल 03 नग गुप्ती 02 नग, कुल्हाड़ी 01 नग, सफेद बोरा 03 नग, सफेद झिल्ली 01 नग, लकड़ी का कुंदा 02 नग  शिकार में प्रयुक्त होने वाली उक्त सामग्री जब्त  किया गया।

उक्त जंगली सुअर के मृत्यु से संबंधित वन अपराध प्रकरण   जारी कर प्रकरण विवेचना में लिया गया। उसके पश्चात् मृत जंगली सुअर के समस्त अंगों सहित पूर्णरुप से वन परिक्षेत्र कार्यालय पिथौरा में जलाया गया।

 देवपुर में खुलेआम चल रहा शिकार?

सूत्रों की मानें तो जहाँ पिथौरा वन मंडल में शिकारियों को पकड़ने लगातार प्रयास कर रहे है वहीँ देवपुर वन परिक्षेत्र में अधिकारियों की उपस्थिति में ही लगातार शिकार किये जाने की जानकारी मिल रही है|

सूत्र बताते हैं कि इस परिक्षेत्र में पदस्थ एक अधिकारी पूर्व में ही एक शिकार प्रकरण में आरोपी रह चुके है।लिहाजा अब इन्ही अधिकारियों को पदस्थापना से शिकार एवम अनेक वन अपराधों में बेतहासा वृद्धि सुर्खियों में है।

ज्ञात हो कि इस सम्बंध में बलौदाबाजार के वन मण्डलाधिकारी पहले ही पत्रकारों को यह कह चुके हैं कि आप शिकारियों के बारे में बताओ हम कार्यवाही करेंगे।

बता दें गर्मी में जंगली जानवर आबादी इलाकों की ओर आते हैं| देखें  वीडियो पिथौरा  एन एच पर अक्सर तेज रफ़्तार वाहनों के कई हादसों में जंगली जानवर जान गँवा चुके हैं|