बड़ी खबर : सिंचाई परियोजनाओं के लिए 52 करोड़ स्वीकृत

चार हजार एक सौ हेक्टेयर क्षेत्र में मिलेगी सिंचाई सुविधा

रायपुर। राज्य शासन ने विभिन्न सिंचाई परियोजनाओं के लिए 52 करोड़ 89 लाख 62 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति जारी की है। इन परियोजनाओं के पूरा होने से चार हजार एक सौ हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।
बेमेतरा जिले के विकासखण्ड साजा की डोटू नाला पर खम्हरिया-गोरखपुर एनीकट सह पुलिया निर्माण के लिए दो करोड़ 93 लाख 90 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 70 हेक्टेयर क्षेत्र मे सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड नवागढ़ की हेम्प बांयी तट नहर के आर.डी. 0 से 16.50 किलोमीटर के मध्य पक्के कार्य के लिए एक करोड़ 87 लाख 67 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 150 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड बेरला की शिवनाथ नदी पर खम्हरिया एनीकट सोलर सूक्ष्म सिंचाई योजना के लिए दो करोड़ 94 लाख 41 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 80 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।

विकासखण्ड बेरला की शिवनाथ नदी पर भरचट्टी एनीकट सोलर सूक्ष्म सिंचाई योजना के लिए दो करोड़ 95 लाख सात हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 90 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। गरियाबंद जिले के विकासखण्ड फिंगेश्वर की पैरी परियोजना अंतर्गत फिंगेश्वर वितरक शाखा नहर के रिमाडलिंग एवं सी.सी लाईनिंग कार्य के लिए दो करोड़ 87 लाख 53 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 877 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड फिंगेश्वर की सरकड़ा बोरिद जलाशय के शीर्ष का मरम्मत एवं उनकी फीडर नहर एवं मुख्य नहर रिमाडलिंग कार्य के लिए दो करोड़ 95 लाख चार हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 298 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। महासमुंद जिले के विकासखण्ड बागबहरा की पलसीपानी जलाशय नहर लाईनिंग एवं जीर्णोद्धार कार्य के लिए दो करोड़ 34 लाख 18 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 275 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड बसना की मेदनीपुर जलाशय योजना के नहरों का मरम्मत, लाईनिंग एवं रिमाडलिंग कार्य के लिए एक करोड़ एक हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 109 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड बसना की रसोड़ा जलाशय योजना के नहरों का लाइनिंग एवं रिमाडलिंग कार्य के लिए एक करोड़ 27 लाख 56 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 167 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।

राजनांदगांव जिले के विकासखण्ड अंबागढ़ चौकी की नीचेकोहड़ा जलाशय योजना के जीर्णोद्धार एवं लाईनिंग कार्य के लिए दो करोड़ 64 लाख 22 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 306 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड मोहला की कोटरी नदी पर भालापुर एनीकट योजना के लिए दो करोड़ 77 लाख 92 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 75 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड राजनांदगांव की मोतीपुर व्यपवर्तन योजना के जीर्णोद्धार कार्य के लिए दो करोड़ 22 लाख 47 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 324 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। दुर्ग जिले के विकासखण्ड धमधा की घोठा व्यपवर्तन योजना के जीर्णोद्धार कार्य के लिए दो करोड़ छह लाख रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 186 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। बलौदाबाजार-भाटापरा जिले के विकासखण्ड बलौदाबाजार की जमुनिया नाला पर सोनाडीह स्टापडेम योजना के लिए दो करोड़ 99 लाख अड़तीस हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 60 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। दंतेवाड़ा जिले के विकासखण्ड दंतेवाड़ा की तोयालंका एनीकट कार्य के लिए एक करोड़ 57 लाख 23 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 50 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड गीदम की बड़े कारली एनीकट के लिए दो करोड़ 37 लाख 27 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 135 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। जांजगीर-चांपा जिले के विकासखण्ड पामगढ़ की कंजीनाला पर पनगांव एनीकट कार्य के लिए एक करोड़ 84 लाख 99 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 125 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड बम्हनीडीह की जमड़ीनाला पर लखुर्री एनीकट कार्य के लिए दो करोड़ एक लाख 22 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 90 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड नवागढ़ की खैरानाला स्टापडेम योजना के लिए एक करोड़ 68 लाख 25 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 80 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। बीजापुर जिले के विकासखण्ड भैरमगढ़ की गुड़साकल स्टापडेम योजना के लिए एक करोड़ 75 लाख छह हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 48 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। उत्तर बस्तर कांकेर जिले के विकासखण्ड नरहरपुर की मानिकपुर तालाब के जीर्णोद्धार के लिए एक करोड़ 81 लाख 18 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 243 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।

विकासखण्ड कांकेर की नाथियानवागांव एनीकट कार्य के लिए दो करोड़ 99 लाख एक हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 150 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। धमतरी जिले के विकासखण्ड धमतरी की महानदी परियोजना अंतर्गत महानदी मुख्य नहर (टंऊाजिट केनाल) कार्य के लिए एक करोड़ 98 लाख 80 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। सुकमा जिले के विकासखण्ड कोन्टा की देवरपल्ली तालाब जीर्णोद्धार कार्य के लिए एक करोड़ एक लाख 25 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 110 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।