राज्य प्रशासनिक अधिकारी चन्द्रकांत उइके का कैंसर से निधन

मुख्यमंत्री भूपेश ने जताया गहरा दुःख

रायपुर | समाज कल्याण विभाग के डायरेक्टर IAS चंद्रकांत उईके का आज मुंबई में इलाज के दौरान निधन हो गया है। उइके पिछले कई महीनो से अग्न्याशय कैंसर से पीड़ित थे। जिसके लिए उनके परिजनों ने उन्हें मुंबई के रहेजा अस्पताल में भर्ती कराया था। महज 55 साल की अल्पायु में ही उन्होंने अपने भरे पुरे परिवार को छोड़कर दुनिया से अलविदा हो गए।

उल्लेखनीय है की चंद्रकांत उईके को दो महीने पलहे ही पता चला था की उन्हें अग्नाशय का कैंसर है। उन्होंने अपना इलाज टाटा मेमोरियल में पहले कराया। इसके बाद यहीं से उइके को मुंबई के रहेजा कैंसर अस्पताल रिफर किया गया था। जहाँ आज सुबह इलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गई। चंद्रकांत उइके के निधन की खबर सुनते ही पुरे ब्यूरोक्रेट्स में शोक की लहर दौड़ गई। राज्य प्रशसनिक अधिकारी के तौर पर चंद्रकांत उइके वर्तमान में समाज कल्याण विभाग में संचालक के तौर पर पदस्थ थे। उन्होंने पहले भी अपने दायित्वों का बखूबी निर्वहन किया। IAS उइके छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग के सचिव, संचालक आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति विकास विभाग, संचालक जनसम्पर्क, संयुक्त सचिव आबकारी, संचालक संस्कृति एवं पर्यटन जैसे अनेक महत्वपूर्ण पदों पर अपनी सेवाएं दी हैं।

चंद्रकांत उइके के निधन पर प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल ने भी गहरी संवेदना प्रकट किया है। सीएम बघेल ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा की वे एक सहज, सरल, ऊर्जावान और लोकप्रिय अधिकारी थे। उनके निधन से हम सभी अत्यंत दुखी है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत उइके के शोक संतप्त परिवारजनों के प्रति अपनी गहरी सहानुभूति प्रकट करते हुए आत्मा की शान्ति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।