यौन शोषण : ओपी गुप्ता को 16 जनवरी तक जेल, पत्नी और ड्राइवर की गिरफ्तारी की मांग

यौन शोषण के मामलें में राजधानी के फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो रही सुनवाई

रायपुर। यौन शोषण मामलें में एक्स सीएम के ओएसडी ओपी गुप्ता को 16 जनवरी तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इधर इस मामलें के खुलासे के बाद ही सियासी उथल पुथल मची हुई है। भाजपा पर कांग्रेस जहाँ इस मामलें हमलावर रुख अपने हुए है वहीं कुछ समाजिक संगठन इस मामलें में और भी लोगो को सहअभियुक्त बनाने की मांग उठा रहे है। सूबे की एक सामाजिक संस्था सोसायटी फॉर फास्ट जस्टिस ने इस मामलें में ओपी गुप्ता की पत्नी और ड्राईवर को भी गिरफ्तार करने की मांग की है। सोसायटी फॉर फास्ट जस्टिस की संयुक्त सचिव ममता शर्मा ने ये मांग रखी है। उन्होंने डीजीपी को भी इस संबंध में ई-मेल भेजा है।
इधर यौन शोषण के मामले में गिरफ्तार ओपी गुप्ता का मेडिकल टेस्ट कराया गया। जिसके बाद उन्हें फास्ट ट्रैक कोर्ट में गुप्ता को पेश किया गया। फास्ट्रैक कोर्ट की न्यायाधीश कुमारी राधिका सैनी ने पुलिस में आरोपी के खिलाफ दर्ज एफआईआर और पीडि़ता के दर्ज बयान के आधार पर आरोपी ओपी गुप्ता के खिलाफ 16 जनवरी तक न्यायिक रिमांड पर जेल दाखिल करने का आदेश जारी किया।