नर्स हड़ताल-पुलिस की बर्बरता पर कांग्रेस का तंज़ “तानाशाह” भाजपा सरकार


रायपुर। नर्सों की हुई गिरफ्तारी के साथ ही प्रदेश की सियासत गरमा गई है। कांग्रेस ने नर्सों की गिरफ्तारी को अब मुद्दा बनाते हुए सरकार पर हमला बोला है।
नर्सो की हड़ताल तोड़वाने के लिये सरकार द्वारा करवाई गयी पुलिस बर्बरता की कांग्रेस ने कड़ी निंदा की है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि पखवाड़े भर से अधिक समय से नर्से अपनी जायज मांगों को लेकर आंदोलनरत है। नर्सो की हड़ताल की वजह से स्वास्थ्य सेवायें भी बुरी तरह प्रभावित है। भाजपा सरकार और स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह अकर्मण्य बना हुआ है। सरकार को न तो मरीजों की फिक्र है और न ही नर्सो की। नर्सो द्वारा की जा रही मांग ऐसी नहीं है कि उसका समाधान न किया जा सके, लेकिन भाजपा सरकार में समस्या के समाधान की इच्छाशक्ति नहीं बची है। पुलिसिया दमन, बर्बरतापूर्वक दौड़ा-दौड़ा कर नर्सो की गिरफ्तारी कर जबरिया हड़ताल तोड़वाने की कोशिश भाजपा सरकार की तानाशाही पूर्वक रवैया है। हड़ताली नर्से भी छत्तीसगढ़ की बेटियां है। उनकी पारिवारिक आर्थिक और सामाजिक पृष्ठ भूमि भी छत्तीसगढ़ की है। इन नर्सो के मन में छत्तीसगढ़ के लोगों, मरीजों के प्रति पीड़ा और सेवाभाव सरकार में बैठे हुये लोगों से अधिक है। कांग्रेस पार्टी मांग करती है कि नर्सो के साथ हड़ताल समाप्त करवाई जाय ताकि प्रदेश की बदहाल पड़ी स्वास्थ्य सुविधायें बहाल हो सके।

संबंधित पोस्ट

सीबीएसई 10-12 वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाएं सितंबर के पहले सप्ताह में संभव

नई शिक्षा नीति के कारण बीएड और टीईटी में भी होगा बदलाव-शिक्षा मंत्री

देशभर के 51 केंद्रीय विवि परीक्षाएं लेने को तैयार, 30 सिंतबर तक पूरी

शिक्षा मंत्री ने कहा,फिलहाल बंद रहेंगे स्कूल, अभिभावकों की ली जाएगी राय

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति भारत को ताकतवर बनाएगा : नरेन्द्र मोदी

प्रदीप को आईएएस बनाने पिता ने पेट्रोल पंप पर नौकरी की, बेच दी पुश्तैनी जमीन

संघ लोक सेवा आयोग के घोषित नतीजों में छत्तीसगढ़ से 6 अभ्यर्थी चयनित

यूपीएससी नतीजे : प्रदीप सिंह इस साल के टॉपर, जतिन किशोर दूसरे स्थान पर

नई शिक्षा नीति 2020 : रिफार्म कम, शिगूफा अधिक

Video-महासमुंदः कभी सूचना देने लगाया गया लाउडस्पीकर अब पढ़ा रहा

नई शिक्षा नीति में स्कूली शिक्षा ‘पांच प्लस तीन प्लस तीन प्लस चार’ डिजाइन पर आधारित

जूते बेचने वाले की बेटी मेरिट में आई, बनना चाहती है डॉक्टर