विजयादशमी पर रायपुर पुलिस का शस्त्र पूजन, नहीं हुआ हर्ष फ़ायर

एसएसपी रायपुर आरिफ शेख ने किया हवन पूजन

रायपुर। राजधानी रायपुर में विजयादशमी के अवसर रायपुर पुलिस ने भी देवी दुर्गा के साथ शस्त्रों की पूजा की। एसएसपी आरिफ़ शेख़ ने पूजा में सम्मिलित होकर राजधानी समेत प्रदेश के सुख समृद्धि के लिए कामना की। रायपुर के पुलिस परेड ग्राउंड में एसएसपी आरिफ़ शेख, एएसपी प्रफुल्ल ठाकुर, एएसपी ग्रामीण तारकेश्वर सहित रायपुर के सभी सीएसपी और आरआई इस पूजा में शामिल हुए। जहाँ मत्रोच्चार के साथ शस्त्रों की पूजा अर्चना की गई। शस्त्र पूजा के साथ ही पुलिस अफसरों ने गाड़ियों समेत अपने तमाम संसाधनों की भी पूजा अर्चना की।

                एसएसपी आरिफ शेख ने कहा कि हर साल की तरह इस बार भी विजयादशमी के दिन पुलिस परेड ग्राउंड में पुलिस अधिकारियों सहित सभी ने अस्त्र शस्त्र और पुलिस वाहन की पूजा की गई। इस पूजा के साथ ही हमने प्रदेश और राजधानी में अमन चैन की कामना की है। शेख ने कहा कि शस्त्र पूजा के बाद सभी अधिकारी कर्मचारी अपनी अपने जिम्मेदारियों का निर्वहन करने जाएंगे और यही प्रार्थना हमारी है कि शहर में अमन चैन शांति का माहौल रहे।

नहीं हुआ हर्ष फायर
नवरात्री के बाद दशहरा के पावन पर्व पर पुलिस ने शस्त्र पूजा तो की पर शौर्य और शक्ति का प्रदर्शन नहीं कर पाए। दरअसल शस्त्र पूजा के बाद हर्ष फायर की सालों पुरानी परंपरा को हादसों के अंदेशे की वज़ह से बंद कर दिया गया है। तकरीबन 5 साल पहले तक भी ये परंपरा निभाई जा रही थी पर इसे असुरक्षित मानते हुए रायपुर पुलिस ने इसे बंद करने का फैसला लिया था।

संबंधित पोस्ट

कंप्लीट लॉक डाउन : अगले 48 घंटे राजधानी पुलिस दिखाएगी सख़्ती

रायपुर पुलिस ने अर्णब गोस्वामी को भेजी नोटिस, 5 मई को हो हाज़िर

निधन के बाद नहीं पहुंचे रिश्तेदार, रायपुर पुलिस ने की अंत्येष्टि

सुपरवाइजर से लूट : सीसीटीवी फुटेज से मिला क्लू…

हिस्ट्रीशीटर बुलटु ने गाडी पासिंग के लिए किया था विवाद, फिर मारा था चाक़ू…

हर हेड हेलमेट अभियान से जुड़ा राष्ट्रीय सिंध युवा ब्रिगेड…किया हेलमेट वितरण

नाबालिक से मारपीट कर दिखाया वर्दी का रुआब…निलंबित हुए तीन हवलदार

Head Waali Rakhi मनाने पर रायपुर पुलिस देगी ईनाम

गुंडा-बदमाश के ख़िलाफ़ रायपुर पुलिस का “ऑपरेशन थंडर”

कम्युनिटी पुलिसिंग पर स्पीच देने जाएंगे एसएसपी शेख़

दूसरे का ट्रेडमार्क यूज़ कर चला रहे थे धंधा, गिरफ़्तार

दूसरे के घर में मंगाई एसी और हो गए ग़ायब, गिरफ़्तार