जाति पर बोले जोगी – कवंर नहीं तो कौन सी जात का यही बता दे कमेटी

आगे की कार्यवाही पर बोले, आदेश कॉपी मिलने के बाद लेंगे फैसला

रायपुर। जनता कांग्रेस सुप्रीमों अजीत जोगी ने अपनी जाति के संबंध में बनी उच्च स्तरीय छानबीन समिति से ही सवाल किया है। जोगी ने समिति की रिपोर्ट पर तंज़ कस्ते हुए कहा कि करोड़ों में मै ही ऐसा हूँ, जिसकी कोई जाति नही है। मेरी जाति की जांच पड़ताल को लेकर बनी उच्च स्तरीय जांच कमेटी ने ये नही बताया कि मेरी कौन सी जाति है। उन्होंने अपनी रिपोर्ट के मुताबिक़ तो मुझसे कंवर जाति छीन ली है, पर मै कौन सा जाति का हूं ये कौन बताया गया ?

Renu Ajit Jogi
जकांछ सुप्रीमों जोगी ने इस छानबिन कमेटी को “भूपेश छानबीन कमेटी” की संज्ञा दी है। उन्होंने कहा कि ये मुख्यमंत्री की छानबीन कमेटी थी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर कमेटी ने ये आदेश जारी किया है। उन्होंने कहा कि मोहन मरकाम और भूपेश बघेल ने 9 अगस्त को ही घोषणा कर दी थी।


इधर इस मसले पर आगे की रणनीति पर अजीत जोगी ने कहा कि फ़िलहाल इस संबंध में उन्हें विधिवत रूप से हाईकोर्ट का आदेश प्राप्त नहीं हुआ है। विधिवत आदेश मिलने पर कोई कदम उठाया जाएगा। हालाँकि उन्होंने इस बात के संकेत भी दिए के इस फैसले की कॉपी लगा कर इस मामले में हाई कोर्ट में वो रीट लगाएंगे।

कांग्रेस मानती है आदिवासी भूपेश नहीं-जोगी
अजीत जोगी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर सीधा हमला करते हुए कहा कि सोनिया गांधी, राजीव गांधी ने मुझे आदिवासी कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया था। मुझे कांग्रेस के प्रमुख नेता और देश के नेताओं ने आदिवासी माना, पर भूपेश बघेल नही मानते। उन्होंने कहा कि जहां मैं पैदा हुआ वो लोग मेरी जाति जानते है, यहां बैठ कर भुपेश बघेल नही जानते। उन्होंने कहा कि सामाजिक आधार में 73 सालों से आगे बढ़ पा रहा हूं। चार बार मरवाही की जनता ने जिताया है, अब ये लोग उसे मुझसे छिनने की कोशिश में है।

संबंधित पोस्ट

अजीत जोगी का बीपी, हार्ट रेट हुआ कंट्रोल पर हालत अब भी गंभीर

Medical Bulletin : जोगी की तबियत में मामूली सुधार, दिखी थोड़ी हलचल

अजीत जोगी से मिलने पहुंचे सीएम भूपेश, रेणु से जाना हालचाल…

सूबे के पूर्व सीएम की तबीयत बिगड़ी साँस लेने में हो रही तकलीफ़

दर्ज़ FIR पर बोले जूनियर जोगी “हमारे लिए सभी न्यायिक विकल्प खुले”

अजीत जोगी के खिलाफ दर्ज़ FIR पर अब 8 नवंबर को सुनवाई…

जोगी को झटका, FIR रद्द करने की याचिका हाईकोर्ट में खारिज

अंतागढ़ टेपकांड : SIT को झटका, वॉइस सैम्पल की याचिका खारिज

मंतूराम का बड़ा ख़ुलासा : 6 और प्रत्याशियों को बिठाया, दी थी मारने की धमकी

जाति के चक्कर में मनेंद्रगढ़ विधायक डॉ विनय जायसवाल भी…

अंतागढ़ ब्रेकिंग : अजीत-अमित मामलें की मुख्य कड़ी, जमानत ख़ारिज

अंतागढ़ टेपकांड : नहीं हुआ मंतूराम पवार का वॉयस सैंपल…