युवा महोत्सव 2020 : सीएस मंडल ने ली बैठक, तैयारी की समीक्षा कर दिए निर्देश

राज्य के सांस्कृतिक अस्मिता-वैभव और विरासत की जानकारी देने पर दिया ज़ोर

रायपुर। राजधानी में आयोजित होने वाले राज्य युवा महोत्सव की तैयारियों की समीक्षा बैठक ली है। बैठक में मुख्य सचिव आर.पी. मण्डल ने महोत्सव के आयोजन के लिए गठित अंतर्विभागीय समन्वय समिति के सदस्यों से चर्चा की है। इस बैठक में विभागीय अधिकारियों को कहा है कि महोत्सव में शामिल होने पहुंच रहे राज्यभर के युवाओं को राज्य के सांस्कृतिक अस्मिता-वैभव और विरासत की जानकारी देने के लिए विभागों द्वारा आयोजन स्थल पर प्रदर्शनी भी लगायी जाए। जिसमें विशेष रूप से छत्तीसगढ़ में पर्यटन, रोजगार मार्गदर्शन, छत्तीसगढ़ में गांधी जी की यात्रा, कौशल विकास से संबंधित जानकारियां उपलब्ध हो। मुख्य सचिव ने महोत्सव में शामिल होने वाले प्रतिभागियों के रहने, भोजन, आवागमन, स्वास्थ्य, सुरक्षा सहित अन्य व्यवस्था करने के निर्देश दिए है।

बैठक में खेल एवं युवा कल्याण विभाग के सचिव परदेशी कोमल सिद्धार्थ ने बताया कि राज्य युवा महोत्सव का शुभारंभ 12 जनवरी 2020 को प्रातः 11 बजे छत्तीसगढ़ राज्य की राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके द्वारा किया जाएगा। युवा महोत्सव में 37 श्रेणियों के विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। जिसमें 28 सांस्कृतिक कार्यक्रम, चार शैक्षणिक कार्यक्रम और पांच पारंपरिक कार्यक्रम शामिल है। राजधानी के 10 स्थानों पर इनका आयोजन किया जाएगा। राज्य युवा महोत्सव में 4043 पुरूष प्रतिभागी और 2821 महिला प्रतिभागी शामिल होंगे। एकल और समूह के रूप में विभिन्न प्रकार के खेलों का आयोजन किया जाएगा। विजेताओं को नगद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। राज्य युवा महोत्सव का समापन 14 जनवरी को किया जाएगा। सामुहिक प्रतियोगिताओं के विजेताओं को प्रथम पुरस्कार दस हजार, द्वितीय पुरस्कार सात हजार पांच सौ और तृतीय पुरस्कार पांच हजार रूपए दिए जाएंगे। एकल विद्याओं के लिए प्रथम पुरस्कार एक हजार, द्वितीय पुरस्कार सात सौ और तृतीय पुरस्कार पांच सौ रूपए दिए जाएंगे।

इन स्थानों पर होंगे विविध आयोजन
साइंस कॉलेज मैदान, पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम, पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय परिसर सहित अन्य स्थानों पर तीन दिनों तक चलने वाले युवा महोत्सव में 821 प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। जिसमें 6864 प्रतिभागी शामिल होंगे। जिला और ब्लॉक स्तर पर हुए युवा उत्सव के आयोजन के पश्चात विजेताओं को राज्य युवा महोत्सव में अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर मिलेगा।