भूपेश कैबिनेट में पंचायत चुनाव प्रत्यक्ष तौर पर करने लिया निर्णय

चिटफण्ड कंपनियों पर हुई समीक्षा

रायपुर|शनिवार को बीजापुर दौरे में जाने से पहले मुख्यमंत्री निवास में सीएम भूपेश बघेल ने कैबिनेट बैठक में कई अहम निर्णय लिए। जिसमे निकाय चुनाव से जुड़े संशोधित नियमो पर चर्चा की गई। साथ ही निकाय चुनाव के बाद प्रदेश में होने वाले त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव के सम्बन्ध में भी महत्वपूर्ण निर्णय बैठक में लिया गया है। जिसमे पांचवी और आठवीं पास व्यक्ति के बाध्यता को समाप्त करते हुए अब केवल साक्षर व्यक्ति पंचायत चुनाव में भाग ले सकता है। इसके साथ ही दिव्यांग जानो को भी चुनाव में विशेष महत्त्व दिए जाने पर निर्णय लिया गया है। साथी ही उद्यानिकी को बढ़वा देने प्रदेश में महात्मा गाँधी के नाम से विश्वविद्यालय खोलने का निर्णय लिया गया है। वहीँ रायगढ़ में भी पूर्व पीसीसी चीफ शहीद नंद कुमार पटेल के नाम से विश्वविद्यालय खोला जाएगा।

इसके साथ ही अन्य कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। जो आम जनता को लाभ पहुँचाने के दृष्टिकोण से निर्णय लिया गया है। मंत्रिपरिषद की बैठक के निर्णय इस प्रकार हैं –

# छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियम 1993 (क्रमांक 1 सन् 1994) की कतिपय धाराओं में संशोधन प्रस्ताव
# उद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय विधेयक 2019 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया और यह विश्वविद्यालय महात्मा गांधी के नाम पर होगा।
# छत्तीसगढ़ विधान मण्डल सदस्य निरर्हता निवारण (संशोधन) अधिनियम 2019 में संशोधन विधेयक
# छत्तीसगढ़ विश्वविद्यालय अधिनियम 1973 में संशोधन-रायगढ़ में नये विश्वविद्यालय की स्थापना का अनुमोदन किया गया। यह विश्वविद्यालय स्व. नंद कुमार पटेल के नाम पर होगा।
# छत्तीसगढ़ नगर पालिक निगम (संशोधन) विधेयक 2019
# छत्तीसगढ़ नगर पालिका (संशोधन) विधेयक 2019
# नगरीय निकायों के द्वारा निर्मित दुकानों के आबंटन पर वार्षिक किराया का निर्धारण प्रस्ताव
# राज्य की अन्य पिछड़ा वर्ग की सूची में क्षेत्रीय बंधन के साथ सरल क्रमांक 12 में सम्मिलित जाति जालारी (जालारनलु) के संबंध में।
# राज्य की अन्य पिछड़ा वर्ग की सूची में उल्लेखित क्षेत्रीय बंधन को विलोपित करने संबंधी प्रस्ताव
# भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पाटी जिला कोरिया को आबंटित भूमि पर अधिरोपित प्रब्याजी राशि कम करने संबंधी प्रस्ताव
# आपसी सहमति से भूमि क्रय नीति 2019 में दिनांक 30.10.2019 में संशोधन प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया।
# बैठक में अनियमित (चिटफण्ड) कंपनियों के संबंध में प्रस्तुतिकरण किया गया। जिसमें अभिकर्ताओं के विरूद्ध दर्ज प्रकरणों के साथ ठगी की गई राशि की वापसी के संबंध में समीक्षा की गई।
# बिलासपुर सिविल लाईन में दर्ज प्रकरण में 2 लाख 80 हजार रूपए की राशि वापस कर दी गई है।

संबंधित पोस्ट

Video : कैबिनेट मंत्रियों के राज्यपाल से भेंट पर छत्तीसगढ़ में मचा राजनितिक बवाल

कोरोना वैश्विक महामारी के दौर में मुख्यमंत्री भूपेश ने वृद्धाश्रम के बुजुर्गाें से की चर्चा

रमन को रविंद्र का करारा जवाब,ब्लू प्रिंट के बजाय खोजे अपना ब्लैक प्रिंट

छत्तीसगढ़ फिर देश में अव्वल,लघु वनोपजों के संग्रहण में देश में छत्तीसगढ़ नंबर वन

कांकेर का ये गांव विकास से कोसो दूर, राज्य सरकारो ने बिना विकास लूटी वाहवाही

छत्तीसगढ़ में कुपोषण मुक्त करने ‘मुनगा’ पौधारोपण का विशेष अभियान

छत्तीसगढ़ में गोबर ने किया कमाल, समूह की महिलाएं हुई मालामाल

गरीब कल्याण योजना छत्तीसगढ़ में लागू नहीं होने से कांग्रेस ने जताई नाराजगी

Video : मुख्यमंत्री भूपेश ने रायपुरियंस को दी ऑक्सीजोन की सौगात

मनरेगा जॉबकॉर्डधारी परिवारों को 100 दिनों का रोजगार देने में छत्तीसगढ़ देश में प्रथम

खारे पानी की समस्या मिटाने मुख्यमंत्री के निर्देश,सतही जल पर आधारित बनेगी पेयजल योजना

Video : भाजपा नेता अजय चंद्राकर के गोबर वाले बयान पर शैलेश नितिन के कड़े तेवर