विपक्षी दल भाजपा ने किया भूपेश सरकार के खिलाफ जंगी प्रदर्शन

धान खरीदी पर निकाली जमकर भड़ास

रायपुर | छत्तीसगढ़ में भाजपा ने आज राज्य सरकार के खिलाफ हल्ला बोला है। आज का प्रदर्शन पुरे प्रदेशभर के जिला मुख्यालयों सहित ब्लाॅक स्तर पर सरकार के खिलाफ जमकर हंगामा किया गया। वहीं राजधानी रायपुर हल्ला बोल धरना में भाजपा के सभी वरिष्ठ पदाधिकारी नजर आए। साथ ही बड़ी संख्या में भाजपा के नेता और कार्यकर्ताओं ने अपनी मौजुदगी दिखाई। प्रदेश में होने वाली धान खरीदी और किसानों के बोनस पर राजनीति के विरोध में यह धरना दिया गया है। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार द्वारा धान खरीदी को 15 दिन पिछे टालने पर विपक्ष प्रदेश व्यापी आंदोलन कर रही है।

किसानों को ठग रही है भूपेश सरकार – रमन
रायपुर के धरना स्थल पर पूर्व सीएम डॉ.रमन सिंह ने प्रदेश सरकार पर जमकर ताने मारे। अपने कार्यकाल की तुलना वर्तमान सरकार से भी किया। रमन ने कहा कि प्रदेश में एक दिसंबर से धान खरीदी शुरू कर किसानों को ठगने का काम प्रदेश की कांग्रेस सरकार कर रही है। वही उन्होने 2500 रुपये में धान खरीदी जल्द शुरू करने की मांग की है। रमन ने कहा कि ये आदोलन महज एक चेतावनी है और यदि सरकार ने इसे अनसुना किया तो प्रदेशव्यापी जेल भरो आंदोलन करने मे भाजपा पिछे नही रहेगी। भूपेश बघेल द्वारा राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से समय मांगने को नौटंकी करार दिया है। धरना प्रदर्शन के बाद भाजपा के सभी पदाधिकारी राजभवन जाकर प्रदेश के राज्यपाल को राज्य सरकार के द्वारा धान खरीदी में देर किए जाने को लेकर किसानों को हो रहे दिक्क्तों की जानकारी दी। साथ ही ज्ञापन सौंपकर धान खरीदी जल्द शुरू करने की गुहार लगाई।

भाजपा का प्रदर्शन दिखावा – चौबे
भाजपा के प्रदर्शन को सरकार के मंत्री ने घढियाली आंसू कहा है। प्रदेश के कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि हमारी सरकार घोषणा के तहत किसानों को 2500 रूपए धान का समर्थन मूल्य देने तैयार है। लेकिन सेट्रल पूल में केन्द्र सरकार भी प्रदेश के चावल को खरीदे। जिससे सिधे तौर पर किसानों को ही फायदा मिलेगा। रविन्द्र चौबे ने कहा कि क्या भाजपा चाहती है कि केन्द्र सरकार के दर से 1875 रूपए मे धान खरीदी की जाए, ये पहले बता दे। फिर सरकार के खिलाफ आंदोलन करे।

बहरहाल अब किसानों के धान की खरीदी और उन्हे दी जाने वाली समर्थन मूल्य को लेकर पक्ष और विपक्ष की आपस मे ही खिंचतान जारी है। ऐसे में किसानों को मिलने वाले लाभ पर किसान टकटकी लगाए खड़े नजर आ रहे है।