भाजपा मुक्त हुए छत्तीसगढ़ के नगर निगम, 10 के 10 में कांग्रेस का कब्ज़ा

मुख्यमंत्री भूपेश ने दी बधाई, जनता का जताया आभार

रायपुर। छत्तीसगढ़ के सभी नगर निगम में आज एक नया इतिहास रचा गया है। भाजपा मुक्त नगर निगम का कांग्रेस का दावा आज कोरबा नगर निगम में कांग्रेस की जीत के साथ ही पूरा हो गया। प्रदेश गठन के बाद पहली दफा छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने 10 में से 10 नगर निगम पर जीत का परचम लहराया है।
दरअसल कोरबा नगर निगम में महापौर और सभापति के लिए आज मतदान हुए। हालाँकि कांग्रेस की डगर यहाँ थोड़ी मुश्किल थी, मगर जोगी कांग्रेस के समर्थन से पूरा दांव कांग्रेस के पाले में आ गया। नगर निगम कोरबा के लिए कांग्रेस ने राजकिशोर प्रसाद और बीजेपी ने रितु चौरसिया को महापौर प्रत्याशी घोषित किया था। वहीं सभापति के लिए भाजपा ने हितानंद अग्रवाल को और कांग्रेस ने सपना चौहान को अपना उम्मीदवार घोषित किया। संख्याबल के लिहाज से कोरबा निगम में कांग्रेस और भाजपा के 31-31 पार्षद चुनकर पहुंचे थे, वहीं बसपा से एक, जनता कांग्रेस के दो और दो निर्दलीय पार्षद चुनकर आए थे। ऐसे में सियासी जोड़ तोड़ भी खूब चला। कांग्रेस के पाले में जनता कांग्रेस के दो पार्षदों के आने से कांग्रेस का ग्राफ बढ़ा। इधर निर्दलीयों को साधने में भाजपा ने भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। मतदान से पूर्व ये कयास लगाए जा रहे थे के जोगी कांग्रेस के साथ चुनाव लड़ चुकी बसपा भी कांग्रेस का ही समर्थन करेगी और ठीक वैसा ही हुआ। कांग्रेस के राजकिशोर प्रसाद को कुल 34 वोट मिले, जबकि बीजेपी की रितू चौरसिया को 33 वोट मिले।

भूपेश ने दी बधाई, जनता का जताया आभार
इधर प्रदेश के नगर निगम को भाजपा मुक्त करने के बाद सूबे के मुखिया ने सभी को बधाई दी और जनता का आभार भी जताया। रायपुर मेयर के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए सीएम भूपेश ने मंच से कहा कि “अभी-अभी सूचना मिली है कि हम कोरबा निगम भी जीत गये है। वहां हमारा महापौर चुना गया है, इसके साथ ही हम सभी 10 के 10 निगमों में अपना महापौर बनाने में कामयाब रहे है। आप सभी को बधाई बहुत-बहुत धन्यवाद। भूपेश ने अपने ट्वीटर पर भी बधाई देते हुए और भाजपा पर तंज़ कस्ते हुए लिखा ” छत्तीसगढ़ प्रदेश के सभी 10 नगर निगमों में महापौर के रूप में कांग्रेस प्रत्याशी की विजय देश बांटने वालों को जनता का करारा जवाब है। इतिहास रचा जा चुका है। “