पंचायत चुनाव : भाजपा-कांग्रेस की सीधी दख़ल, प्रत्याशियों का ऐलान भी…

कार्यकर्ताओं से रायशुमारी के बाद तय होंगे पंचायत प्रत्याशी

रायपुर। पंचायत चुनाव में इस बार भाजपा और कांग्रेस की सीधी दखल दिखाई दे रही है। दोनों ही राजनैतिक दल जहाँ त्रि स्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर रणनीति तैयार कर चुनावी मैदान में भिड़ंत की तैयारी कर रहे है। अब तक बगैर किसी सियासी उथल पुथल और बगैर पार्टी की लॉबिंग के लड़ें जाने वाले इस चुनाव में भी राजनैतिक दल सीधे और सक्रीय भूमिका निभा रहे है। कांग्रेस ने इसके लिए बकायदा प्रत्याशी चयन करने के लिए प्रदेश, जिला और ब्लाक स्तर के कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारियां सौपी है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने इस संबंध में कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार मैदान में उतरेंगे। जिला के प्रभारी पदाधिकारियों और जिला कांग्रेस अध्यक्षों को प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने निर्देश दिये है कि जिला पंचायत सदस्य और जनपद पंचायत सदस्य हेतु कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार के नामों की सर्वानुमति बनाकर घोषणा करेंगे। ग्राम पंचायतों के सरपंच और पंच के लिये संबंधित ग्राम पंचायतों के वरिष्ठ कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता प्रत्याशी तय करेंगे।

Congress BJP

जिला पंचायत के लिए प्रभारी मंत्री को जिम्मा
जिला पंचायत हेतु जिलों के प्रभारी मंत्री, संबंधित ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष, विधायक, पूर्व विधायक, सांसद, पूर्व सांसद और कांग्रेस प्रत्याशियों, वरिष्ठ कांग्रेसजनों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ विचार विमर्श कर आपसी समन्वय स्थापित कर जीतने योग्य प्रत्याशियों के नाम तय करने के निर्देश जिला के प्रभारी पदाधिकारियों और जिला कांग्रेस अध्यक्षों को दिये गये है। शैलेष ने कहा कि इसी तरह जनपद पंचायत हेतु संबंधित ब्लाकों के जिला कांग्रेस द्वारा नियुक्त प्रभारियों को निर्देशित किया गया है अपने प्रभार क्षेत्र में जाकर जीतने योग्य प्रभारियों के नाम संबंधित ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष, विधायक, पूर्व विधायक, सांसद, पूर्व सांसद, कांग्रेस प्रत्याशियों, वरिष्ठ कांग्रेसजनों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चर्चा कर तय करें।

भाजपा भी जारी कर रही है सूची
इधर भाजपा ने भी त्रि स्तरीय पंचायती चुनाव के लिए कमर कस ली है। जिला पंचायतों में प्रत्यशियों को लेकर भाजपा की एक बैठक भी आहूत की गई है। इसके इतर भाजपा ने जिला पंचायत चुनाव के भूपेन्द्र सवन्नी को प्रभारी भी नियुक्त किया है। भाजपा ने आज ही कोरिया जिले में जिला पंचायत के सदस्यों के लिए 10 क्षेत्रों के समर्थित प्रत्याशियों का ऐलान भी किया है। भाजपा सहकारिता प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक अशोक बजाज का दावा है कि पंचायत चुनावों में ग्रामीण विकास को ठप करने का खामियाजा कांग्रेस को भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पिछले एक साल के कुशासन तथा वादाखिलाफी से जनता त्रस्त है जिसकी वजह से कांग्रेस का जनाधार खिसकता जा रहा है। बजाज ने कांग्रेस के कर्जमाफी, धान खरीदी, शराब-बन्दी, बेरोजगारी भत्ता आदि मुद्दों को छलावा करार देते हुए कहा कि राज्य सरकार ने जिस तरह छलावा और सियासी नौटंकी की है, उससे गरीब, मजदूर, किसान, आदिवासी, महिलाएं, युवा समेत सभी वर्ग के लोग खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। जिस तरह नगरीय निकायों में जनता ने कांग्रेस को सबक सिखाया है, वैसा ही पंचायत में होगा।

ये है पूरी प्रक्रिया
प्रदेश में पंचायत चुनाव तीन चरणों- 28 जनवरी, 31 जनवरी और तीन फरवरी को होगा। मतदान बैलेट पेपर से होगा। चुनाव के लिए नामांकन भरने का क्रम जारी है जो छह जनवरी तक चलेगा। सात जनवरी को नामांकन की स्क्रूटनी और नौ जनवरी को नाम वापस लेने की अंतिम तिथि तय की गई है। नौ जनवरी को ही चुनाव चिन्हों का आवंटन किया जाएगा। प्रदेश के 27 जिले में 400 जिला पंचायत सदस्य, 2,979 जनपद पंचायत सदस्य, 11,664 सरपंच और 1,60,725 पंचों का चुनाव होगा। पंचायत चुनाव में पहली बार सरपंच का चुनाव पंच करेंगे। पंचायत चुनाव में एक करोड़ 44 लाख 68 हजार 763 वोटर अपने प्रतिनिधि का चयन करेंगे। इसमें पुरुष 95 लाख 54 हजार 252 और महिला 72 लाख 69 हजार 274 वोटर हैं। पंचायत चुनाव के लिए 29,525 बूथ बनाए गए हैं।