सभापति बने प्रमोद, एजाज से दो वोट कम में हुई जीत

सभापति के लिए प्रमोद दुबे के पक्ष में पड़े 39 वोट

रायपुर। राजधानी रायपुर के पूर्व महापौर प्रमोद दुबे अब रायपुर नगर निगम के सभापति बन गए है। कांग्रेस की ओर से सभापति पद के लिए अधिकृत प्रत्याशी के रूप में उतरे प्रमोद दुबे ने भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी प्रमोद साहू को 8 वोटों से हराया है। प्रमोद दुबे के पक्ष में उन 39 वोट पड़े जबकि प्रमोद साहू के पक्ष में 31 वोट मिले। हालांकि प्रमोद दुबे को महापौर एजाज ढेबर से 2 वोट कम मिले है, इधर इस जीत के साथ ही कांग्रेस 10 में से आठ नगर निगम में अपनी जीत का परचम लहरा चुकी है।
लगातार भाजपा की झोली में जा रहे धमतरी निगम से कांग्रेस ने आज अपनी जीत का खाता खोला। धमतरी से कांग्रेस के विजय देवांगन महापौर और अनुराग मसीह को सभापति चुना गया है। दुर्ग निगम में भी कांग्रेस ने शानदार जीत दर्ज की। कांग्रेस के धीरज बकीलवाल महापौर चुने गए। चिरमिरी में कांग्रेस को भाजपा ने वॉकओवर दे दिया। भाजपा ने चिरमिरी में अंतिम समय में चुनाव नहीं लड़ने की बात कहते हुए कांग्रेस की मेयर कैंडिडेट कंचन जायसवाल और सभापति गायत्री बिरहा के लिए रास्ता साफ कर दिया। इधर रायपुर में भी कांग्रेस ने महापौर और सभापति की सीट पर कब्ज़ा कर लिया है। कांग्रेस प्रत्याशी एजाज ढेबर की जीत के साथ रायपुर नगर निगम में महापौर पद पर तीसरे दफे जीत का रिकॉर्ड भी बनाया है। कांग्रेस से पहले किरणमयी नायक फिर प्रमोद दुबे के बाद एजाज ढेबर लगातार कांग्रेस के तीसरे महापौर बन गए है।

संबंधित पोस्ट

रायपुर निगम में कांग्रेस की हैट्रिक, एजाज 41 वोटों के साथ बने मेयर

Breaking News : कांग्रेस से एजाज ढेबर बने रायपुर मेयर कैंडिडेट

बंसल, होरा जीते, एजाज और अजीत कुकरेजा की बड़ी जीत

मौके पर सफाई कर्मचारी नदारद, भड़कीं विशेष सचिव, हटाने का सुनाया फ़रमान

Big News : शनिवार से होगी 19 टंकियों में 100 फीसदी तक पानी सप्लाई

मेयर प्रमोद बोले डीजे साउंड से हो गई मौत, हम मज़बूर थे…

शहरी नवाचार कार्यशाला का मुख्यमंत्री भूपेश ने किया शुभारंभ

वंदना ऑटो सील…बेसमेंट को बनाया था गोदाम और सर्विस सेन्टर

Exclusive : ट्रेंचिंग ग्राउंड पर एयरपोर्ट ने की आपत्ति

रायपुर लोकसभा में साढ़े तीन लाख मतों से जीतें सुनील सोनी

बारिश में न डूबे राजधानी इसलिए निगम ने शुरू किया अभियान

निगम का जोन-4 कार्यालय का बदलेगा पता…ये है वज़ह