संबित पात्रा को बिलासपुर हाईकोर्ट से मिली राहत बरकरार, 18 नवंबर को अंतिम बहस

गांधी परिवार के खिलाफ टिप्पणी पर यू्थ कांग्रेस ने रायपुर और भिलाई में एफआईआर दर्ज कराई थी

बिलासपुर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा को गांधी परिवार के खिलाफ टिप्पणी के मामले में बिलासपुर हाईकोर्ट से मिली राहत बरकरार है। याचिका पर आगामी 18 नवंबर को मामले में अंतिम बहस होगी। पात्रा के खिलाफ यू्थ कांग्रेस ने रायपुर और भिलाई में एफआईआर दर्ज कराई थी|
पिछले सुनवाई में बिलासपुर हाईकोर्ट ने डॉ. संबित पात्रा के खिलाफ किसी भी प्रकार के दंडात्मक कार्यवाई पर रोक लगाई थी। पात्रा ने खुद के खिलाफ रायपुर और भिलाई में हुई एफआईआर को निरस्त करने की मांग को लेकर दायर की हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।
बता दें कि यू्थ कांग्रेस ने कांग्रेस के पूर्व प्रधानमंत्री और गांधी परिवार पर डॉ. संबित पात्रा के द्वारा टिप्पणी करने के खिलाफ एफआईआर कराया था। हाईकोर्ट जस्टिस संजय के.अग्रवाल के सिंगल बेंच में यह मामला लगा था।
संबित पात्रा पर आरोप है कि उन्होंने बीते 9 व 10 मई को अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से किए गए ट्वीट में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को 1984 के सिख दंगों के लिए जिम्मेदार ठहराया था।
यूथ कांग्रेस ने इस ट्वीट को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की मानहानि मानते हुए भाजपा प्रवक्ता पर हिंसा भड़काने का प्रयास करने का आरोप लगाया गया है।

संबंधित पोस्ट

बिलासपुर हाईकोर्ट: ट्यूशन फीस पर सिंगल बेंच के फैसले पर डबल बेंच करेगी सुनवाई

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा में मिले कोविड-19 के लक्षण

हाईकोर्ट व निचली अदालतों में बिना गाउन, कोट के पैरवी करने पहुंचेंगे वकील

आरक्षण के खिलाफ हाईकोर्ट में दायर याचिका हुई खारिज

पाकिस्तान में गुरुद्वारा ननकाना साहिब पर हमला

कोरिया टाइगर रिजर्व के लिए 15 दिन के भीतर अधिसूचना, हाईकोर्ट में शासन का जवाब

हाईकोर्ट का फैसला : अंबिकापुर नगर निगम परिसीमन पर लगी याचिका खारिज

जेल से बाहर आएंगे छोटे जोगी, हाईकोर्ट ने मंज़ूर की ज़मानत

आबकारी घोटालाः मास्टरमाइंड समुद्र सिंह की अग्रिम जमानत याचिका खारिज

सड़क पर आवारा मवेशी मामलें में 26 सितंबर को होगी हाईकोर्ट में सुनवाई

CG High Court : हाईकोर्ट ने किया भूपेश सरकार का फैसला निरस्त

संबित का सवाल दिग्विजय बताएं उन्हें कैसे पता ISI में कितने मुसलमान कितने हिन्दू ?