नहीं बचा संदीप, जिम की जांच-पड़ताल भी ठप्प…

जिम में धड़ल्ले से चल रहा पाउडर और इंजेक्शन का धंधा

रायपुर। मसल पावर बढ़ाने के लिए राजधानी के युवा संदीप ठाकुर ने जिम ट्रेनर की सलाह पर स्टेरॉयड का इंजेक्शन लिया था, जिसके बाद उसकी तबियत बिगड़ी और आखिरकार संदीप की मृत्यु हो गई। इस मामले में पुलिस ने अब तक केवल जिम ट्रेनर की गिरफ्तारी कर उसे जेल भेजा है। इधर पुलिस ने बीते 17 दिनों में कुछ खास खोजबीन या कार्यवाही नहीं की है। गौरतलब है कि संदीप की 9 नवंबर को तबीयत बिगड़ने के बाद राजधानी के एक निजी अस्पताल में उसे इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। जिसके बाद इस मामले में पुलिस ने अपराध दर्ज किया था, उस वक्त पुलिस ने यह दावा किया था कि सभी जिमों की जांच होगी। जल्दी बॉडी बनाने प्रोटीन पाउडर और इंजेक्शन की बिक्री के अलावा जिम के ट्रेनर का सर्टिफिकेट, मशीनरी, गुमास्ता आदि की जांच की जाएगी। लेकिन 17 दिन बीत जाने के बाद भी राजधानी पुलिस ने ना तो इस मामले में जांच का कोई सिस्टम बनाया है, और ना ही जिला प्रशासन की ओर से इस पर कोई गंभीरता दिखाई गई है।

इधर संदीप की मौत के बाद देर रात पुलिस अफसरों ने इस मामले में जेल में कैद जिम ट्रेनर के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला भी दर्ज करने की बात कही है। गौरतलब है कि राजधानी के लगभग सभी जिम में प्रोटीन पाउडर और ताकत बढ़ाने के इंजेक्शन के नाम पर गोरखधंधा चल रहा है। दवाई कारोबारियों की अगर मानें तो यह धंधा केवल राजधानी भर में ही 7 से 10 करोड़ के आसपास का माना जा रहा है। जिसमें जिम आने वाले अधिकांश युवाओं को जल्दी बॉडी बनाने और स्टेमिना बढ़ाने के नाम पर प्रोटीन पाउडर और इंजेक्शन अवैध तरीके से बेचे जा रहे है।

सलमान ने भी की थी अपील
हाल ही में अपनी हेल्थ फिटनेस के लिए मशहूर बॉलीवुड के भाईजान सलमान खान ने भी युवाओं को जल्दी बॉडी बनाने और अपनी फिटनेस के लिए किसी भी केमिकल, पाउडर या फिर इंजेक्शन का इस्तेमाल नहीं करने की अपील की थी। इस अपील के साथ सलमान काफी सुर्खियों में भी थे। सलमान ने इस तरह के खाद्य पदार्थों और इंजेक्शन का इस्तेमाल करने से लीवर और किडनी में इसका बुरा प्रभाव पड़ने की बात भी कही थी। बावजूद इसके युवा जल्दी बॉडी बनाने के चक्कर में इंजेक्शन और पाउडर का इस्तमाल किया जा रहा है।