कोरिया : सीसी सडक में पड़ रही दरारें, सीईओं बोले देंगे नोटिस…

निर्माण कार्यो की गुणवत्ता पर खडे हो रहे सवाल

चंद्रकांत पारगीर, बैकुंठपुर। सरगुजा संभाग के कोरिया जिले में लॉक डाउन में जारी निर्माण कार्यो में जमकर लापरवाही बरती जा रही है। निर्माण कार्यो की गुणवत्ता को लेकर सवाल खडे ही हो रहे है, बनाई जा रही सीसी सडक में बनते ही दरारें सामने आ रही है, वहीं मनरेगा के कार्यो में भी भारी शिकायते देखने को मिल रही है।

कोरिया जिले में जारी लॉक डाउन में हो रहे निर्माण कार्यो की गुणवत्ता पर सवाल खडे हो रहे है, ज्यादातर पक्के कार्य धड़ाधड़ और काफी गति से अंजाम दिए जा रहे है कार्य को देखने अधिकारियों के पास रटारटाया जवाब है कि अभी लॉक डाउन चल रहा है, बहुम कम स्टाफ आ रहे है.

इसलिए देख पाना मुमकिन नहीे है, इसके आड में नए नए ठेकेदार बने लोग इस काम में जुटे है, ऐसा पूरे जिले का हाल है। निर्माण कार्यो में मानक स्तर का बिल्कुल ध्यान नहीं रखा जा रहा है यही कारण है कि निर्माणाधीन सीसी सडक में बडे बडे दरारें आसानी से देखे जा सकते है।

सड़क में पड़ रही दरारें

बचरापोडी की सडक में दरारे
खडगवां के बचरा के खालपारा वार्ड क्र 6 में सीसी सडक का निर्माण चल रहा है, एक तरफ निर्माण कार्य जारी है दूसरी तरफ सडक में दरारे साफ देखी जा सकती है।

ग्रामीणों ने माने तो कार्य स्थल पर कोई इंजीनियर उपस्थित नहीं रहता है, कााम कैसा और कितने मानक का हो रहा है इसे देखने वाला कोई नही है। यही कारण है सडक बनते बनते ही फटना शुरू हो गयी है। ग्रामीणों ने मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

मुलूकनार में फर्जी हाजिरी का खेल
जनपद पंचायत भरतपुर के ग्राम पंचायत नौगई के आश्रित ग्राम मुलुकनार के ओमप्रकाश, यादवेन्द्र, दिलीप, भरतलाल, रामलखन सहित कई ग्रामीणों ने सीइ्रओ को शिकायत कर बताया है कि मनरेगा के तहत तालाब गहरीकरण का कार्य जारी है,

इसमंे खुलेआम सचिव और मेट के द्वारा फर्जी हाजिरी लगाई जा रही है। वहीं कार्य को डिमांड किसी और स्थान का है जबकि सचिव द्वारा कार्य कही और करवाया जा रहा है। ग्रामीणों ने मामले की जांच कर कार्यवाही की मांग की है।

कुंआ निर्माध अधूरा
मुलुकनार के इंद्रपाल सिंह का कुंआ वर्ष 2019 से बन रहा है, आज भी कुंआ अधूरा है, कई बार सचिव को उन्होने बताया, परन्तु अब सचिव का कहना है कि अब नहीं हो पाएगा। कुंएं की खुदाई कर अधूरा छोड दिया गया है, ऐसे में आने वाली बरसात में वो और ढह जाएगा। बार बार बोलने के बाद भी पंचायत के सचिव ग्रामीणों की सुनने को तैयार नही है। उन्होने सीईओ से अधूरे कुएं को जल्द पूर्ण कराने की मांग की है।

 

आपके मार्फ़त मुझे मालूम हुआ है। उन्हें नोटिस भेजा जाएगा, मूल्यांकन कर उन्हें भुगतान नही दिया जाएगा।
-अनिल अग्निहोत्री, सीईओ,खड़गवां

 

और पढ़े : कोरिया में डीएमएफ के पैसे से बनेगा एडवेंचर पार्क, वन विभाग को सौपे एक करोड़