कोरिया पंचायत चुनाव : गांव-गांव पैदल नाप रहे प्रत्याशी

साप्ताहिक बाजारों में पहुंच रहे प्रचार वाहन

चंद्रकांत पारगीर, बैकुंठपुर। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर प्रचार जोर पकड़ने लगा है। गांव गांव में चुनावी प्रचार वाहन घूमने लगे है। इस दौरान सबसे ज्यादा फोकस ग्रामीण बाजार पर रहता है। सरपंच व पंच के उम्मीदवार अपने गांव व मोहल्लों के लोगों से संपर्क कर अपना प्रचार कर रहे है वहीं जिला पंचायत सदस्य एवं जनपद पचायत के सदस्य के उम्मीदवारों द्वारा वाहनों के माध्यम से प्रचार करने में जुट गये है। वे अपने क्षेत्र. के उस जगह पर प्रचार वाहन के साथ पहुंच रहे हैं जहां पर साप्ताहिक बाजार और ज्यादा से ज्यादा लोगों की भीड़ होती है।
जानकारी के अनुसार तीन चरणों में होने वाले इस चुनाव में कई दिग्गज नेताओं की साख लगी हुई है तो राजनैतिक पार्टियों को भी जनता ने कितना परखा है इसका अनुमान परिणाम के बाद लग जाएगा। उल्लेखनीय है कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए कोरिया जिले में तीन चरणों में चुनाव होने है। जिसके लिए अब ज्यादा दिन का समय नही बचा है। ऐसे में चुनाव प्रचार धीरे-धीरे जोर पकड़ता जा रहा है। वही चुनाव कार्य संपन्न कराने के लिए मतदान दलों के अधिकारियों का प्रशिक्षण कार्यक्रम भी शुरू हो गया है।

कहीं पैदल तो कहीं बड़े वाहनों पर प्रचार
चुनाव चिन्ह मिलने के बाद प्रत्याशी आम सभा आयोजित कर ग्रामीणों को अपने पक्ष में लुभाने के लिए तरह तरह के वायदे भी कर रहे है। निर्वाचन क्षेत्र. बड़ा होने के कारण जिला पंचायत सदस्य तथा जनपद पंचायत सदस्य के उम्मीदवार प्रतिदिन किसी न किसी क्षेत्र में जन संपर्क करने में जुटे हुए है। वही ग्राम पंचायतों में पंच व सरपंच पद के उम्मीदवार प्रतिदिन की तरह अपने कामों को निपटाते हुए गांव में पैदल व बाईक से घुमकर लोगों से मिल रहे है और समर्थन मांग रहे है। पंच सरपंच पद को लेकर चुनावी रंग देखने को ज्यादा नही मिल रहे है लेकिन गॉवों में संपर्क व बैठकों का दौर जारी है। जबकि जनपद सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य के उम्मीदवार अपनी नैया पार करने के लिए जोर आजमाईस कर रहे है और कई प्रचार वाहनों की सहायता से अपने निर्वाचन क्षेत्र. में प्रतिदिन प्रचार करने में जुट गये है। टीम बनाकर इसके लिए जिम्मेदारी भी दी गयी है।

ग्रामीण मतदाताओं की बढ़ी पूछ परख
चुनावी सीजन आने के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र के मतदाताओं की भावी उम्मीदवारों व उनके समर्थकों द्वारा पूछ परख बढ गयी है जिससे मतदाता भी खुश है। इस दौरान स्थिति ऐसी हो गयी है कि ग्रामीणों की हर तरह की मदद की जा रही है। किसी का कोई समस्या सुलझाना हो या अन्य कोई सहयोग हो तत्काल मदद के लिए तैयार रहते है। जिससे कि मतदाता तो यह समझ रहे है कि यह चुनाव सीजन के चलते ऐसा हो रहा है लेकिन जिन ग्रामीणों की मदद मिल रही है वे मदद करने वालों को वोट देने के लिए आश्वस्त भी कर रहे है। इसके अलावा पीने वालों को शराब भी पीने को दी जा रही है। इस तरह चुनावी सीजन तक पीने वालों की मौज है।

कुडेली में कांटे का मुकाबला
कोरिया जिले में सभी 10 जिला पंचायत की सीटों पर कांटे का मुकाबला देखा जा रहा है, सबसे दिलचस्प मुकाबला बागी होकर लड़ रहे शरण सिंह और बेदाति तिवारी के क्षेत्रों में देखा जा रहा है, वर्तमान जिला पंचायत सदस्य शरण जनता के मुद्दो को लेकर हमेशा मुखर रहते है, परन्तु कांग्रेस ने उन्हे टिकट नहीं दिया है, यहां कांग्रेस ने एकदम नए चेहरे को टिकट दे डाला है, वहीं कुडेली क्षेत्र से भाजपा ने अनिल साहू को उम्मीदवार घोषित कर पूरी ताकत लगा रखी है तो यहां से वरिष्ठ कांग्रेसी बेंदाति तिवारी बागी होकर मैदान में है उनके समर्थन में बैकुंठपुर से काफी संख्या में कांग्रेस के पदाधिकारी मैदान में उतर गए है। वहीं कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी अनिल जायसवाल ने भी पूरा जोर लगा रखा है, कांग्रेस के दुसरे बागी चंद्रप्रकाश राजवाडे भी तीनों से पीछे नहीं है। वहीं गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने अपना उम्मीदवार यादव समाज देकर मुकाबले को रोचक बना दिया है।, गोगपा के शिवकुमार यादव ने एडी चोटी का जोर लगा रखा है। कांग्रेस के ज्यादातर बागी मैदान में है, जिसके कारण कार्यकर्ता पशोपेश में है कि वो किसके लिए काम करें।