लीज खत्म होने के नाम पर अफसर ने बांट दी जमीन

मामला दर्ज कर एसडीएम मनेन्द्रगढ़ ने काम रोका

बैकुंठपुर। कोरिया जिले के मनेन्द्रगढ के चैनपूर की एक जमीन को लीज खत्म होने के नाम पर जिला व्यापार एवं उद्योग विभाग के अधिकारियों ने कई व्यापारियों और उद्यामियों को नियमों को ताक पर रख बांट डाली। मामला सामने आने पर कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम मनेन्द्रगढ़ ने प्रकरण दर्ज कर मामले में स्थगन दिया और अब आगे की कार्यवाही जारी है।

                             जानकारी के अनुसार कोरिया जिले के मनेन्द्रगढ स्थित चैनपुर के खसरा नंबर 266/1 रकबा 4 हेक्टेयर भूमि जिला व्यापार एवं उद्योग कार्यालय के माध्यम से एलॉट हुई थी, जिसमें राज्य की महत्वाकांक्षी बैलगाडी योजना का संचालन छग राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम लिमिटेड के जरीए होना था। 5 सिंतंबर को छग राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम लिमिटेड कोरिया जिले के प्रंबंधक संतोष कुमार भगत ने कलेक्टर को पत्र लिखकर बताया कि उनकी हिस्से की भूमि को जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के प्रबंधक शैलेन्द्र रंगा द्वारा निजी व्यापारियों और उद्योगपतियों को दे डाली है जिसके बाद वे उक्त भूमि पर जेसीबी चला उस पर काम कर रहे है। उन्होंने यह भी लिखा कि श्री रंगा से कई बार उनकी भूमि की जानकारी चाही गई, परन्तु उन्होनें अभी तक नहीं बताई।

एसडीएम ने किया प्रकरण दर्ज
छग राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम लिमिटेड कोरिया जिले के प्रंबंधक संतोष कुमार भगत के पत्र पर कलेक्टर ने कडी नाराजगी व्यक्त की और एसडीएम मनेन्द्रगढ़ को मामले को संज्ञान लेने का कहा, जिसके बाद एसडीएम कोर्ट में मामला दर्ज कर उक्त भूमि पर किए जा रहे निर्माण कार्यों पर रोक लगाई गई, इसकी जानकारी थाना मनेन्द्रगढ़ और हल्का पटवारी चैनपुर को भी दी गई, दोनों को मौके पर जाकर निर्माण कार्यो को रोकने के निर्देश दिए गए।

बनेगा बीज प्रक्रिया/बीज प्रोसेस केन्द्र
छग राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम लिमिटेड कोरिया जिले के प्रबंधक संतोष कुमार भगत की मानें तो उक्त भूमि का एलॉटमेट 1988 में विभाग को हुआ था, लीज का समय निकल जाने पर उक्त भूमि को अन्यत्र किसी को दे डाला गया है, कितनी कितनी भूमि किसे एलॉट की गई है इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। राज्य सरकार ने कोरिया जिले में बीज प्रक्रिया / बीज प्रोसेस केन्द्र की स्वीकृति प्रदान कर दी है। मनेन्द्रगढ में बनने से इसका लाभ पूरे जिले को होगा। विभाग के पास चैनपुर की 4 हेक्टेयर भूमि है। यदि भूमि वापस हो जाती है तो यहां भव्य बीज प्रक्रिया / बीज प्रोसेस केन्द्र की स्थापना होगी जो किसानों के हितों के लिए मील का पत्थर साबित होगा।

 

संबंधित पोस्ट

जशपुर में विवाहिता से सिपाही ने किया बलात्कार, जुर्म दर्ज

कोरिया पंचायत चुनाव में परिवारवाद ने पकड़ा तूल

बेटे की चाहत में पत्नी को मार डाला

70 की उम्र में 5वीं पास कर सुर्खियों में रहा जशपुर का यह बुजुर्ग अब मांग रहा सपरिवार इच्छामुत्यु

चिरमिरी में कोयला वैगन में चढ़ा युवक ओएचई की चपेट में, मौत

जंगल में जुआ, सवा लाख जब्त, सात बंदी

कमरा बंद कर खुद को आग लगा ली

भटके हाथी ने बुजुर्ग को कमरे से खींच पटक मारा

3 क्विंटल गांजा के साथ 3 गिरफ्तार

नए साल में सरगुजा में गौकशी की घटनाएं, माहौल गरमाया

खेत से घर में पहुंचा धान उस पर भी ठोक रहे जुर्माना, विरोध में किसान…

कल से होगा 19वीं राज्य स्तरीय क्रीड़ा प्रतियोगिता का आग़ाज़