बरामद हुआ जंगलों से इमारती लकडी का जखीरा

समेटने में लगे 4 घंटे

बैकुंठपुर|कोरिया वन मण्डल में सोनहत रेंज के एक गांव नदी, सड़क और खेत मे साल के पेड़ के 72 चौखट पड़े मिले। मामले की जानकारी होने के बाद कोरिया वन मण्डल के रेंजर ने इमारती लकडी को इकठ्ठा करवाना शुरू किया। जिसमे करीब 4 घंटे लग गए। अभी भी वन अमला और भी लकड़ी ढूंढने का क्रम रखा हुआ है।
जानकारी के अनुसार सोनहत रेंज के बदरा गांव में मुखबिर की सूचना पर रेंजर एसएन मिश्रा अलसुबह मौके पर पहुंचे, तो नदी के किनारे, सड़क और खेत मे पड़े चौखट मिले, जिसके बाद उन्हें 4 घण्टे लगे इकठ्ठा करने में, जबकि विभाग के कर्मचारी अभी और जगह की तलाशी कर रहे है, वही 72 नग चौखट को जप्त कर विभाग कार्यवाही की तैयारी कर रहा है, विभाग के हाथ एक भी आरोपी अभी तक हाथ नही आ सका है। बताया जा रहा है कि बड़ी मात्रा में शहर में खपाने के लिए चौखट बनाये गए, इस काम मे दर्जनों साल के पेड़ों को काट डाला गया।

सर्च वारंट लेकर हो रही है कार्यवाही
कोरिया वनमंडल के सोनहत में रेगुलर फारेस्ट के साथ पार्क में रिज़र्व फारेस्ट भी है। पार्क क्षेत्र में बाघों की उपस्थिति के कारण वहां घुसना और पेड़ काटना इतना आसान नही है। रेगुकर फारेस्ट में जारी इस अवैध कारोबार में शामिल लोगों के लिए विभाग ने सर्च वारंट ले लिया है और बड़े स्तर पर कार्यवाही करने के लिए अलग अलग टीमें निकल चुकी है, दूसरी ओर वन विभाग का अमला बदरा गांव में तैनात है जो और लकड़ी की तलाशी कर रहा है। इस संबंध में सोनहत रेंजर एसएन मिश्रा का कहना है कि ग्राम बदरा में अलग अलग जगह लावारिस हालात में 72 साल की लकड़ी के चौखट मिले है। सर्च वारंट लेकर आरोपियों की तलाश की जा रही है।