कोरियाः दशक पहले बना तालाब अब मनरेगा में फिर बन रहा नया

खड़गवां जनपद पंचायत सीईओ से शिकायत, जांच-कार्रवाई की मांग

बैकुंठपुर। पूर्व में बने तालाब को मनरेगा के तहत नया बनाया जा रहा है, मामले की शिकायत सामाजिक कार्यकर्ता चंद्रभूषण चक्रधारी ने सीईओ खडगवां से की है, उन्होंने जांच कर कार्यवाही करने की मांग की है। इस संबंध में जनपद पंचायत सीईओ अनिल अग्निहोत्री का कहना है कि आपने जो बताया है मैं तुरंत पता लगाता हूँ आखिर ऐसा क्यों हो रहा है। पुराने तालाब को नया नहीं बनाया जा सकता।
जानकारी के अनुसार कोरिया जिले के खड़गवां जनपद अंतर्गत ग्राम पंचायत बचरा (तुर्यापारा) में जलग्रहण विभाग द्वारा पूर्व में निर्माण कराये गये तालाब में मनरेगा के तहत करीब 19 लाख का नवीन तालाब निर्माण कराया जा रहा है।

सामाजिक कार्यकर्ता चंद्रभूषण के अनुसार ग्राम पंचायत बचरा (तुर्रापारा) में करीब 10-12 वर्ष पूर्व जलग्रहण विभाग द्वारा वाटर शेड योजना अंर्तगत तालाब का निर्माण कराया गया था तथा इस वित्तीय वर्ष में मनरेगा योजना अंर्तगत करीब 19 लाख रूपये का नदी तालाब स्वीकृति हुई है जिसकी निर्माण एजेन्सी ग्राम पंचायत है। यह कि उक्त निर्माण कार्य का ले-आउट बिना स्थल निरीक्षण किये संबंधित इंजीनियर ने ले-आउट देकर कार्य प्रारम्भ करा दिया है जो घोर लापरवाही के श्रेणी में आता है, जिसका नतीजा यह हुआ है कि पूर्व में निर्मित तालाब के गेट पर ही नवीन तालाब का मेढ़ रखा जा रहा है जबकि मनरेगा से स्वीकृत नवीन तालाब को अन्य स्थान पर अर्थात ग्राम पंचायत द्वारा प्रस्तावित स्थल पर निर्माण कराया जाना था। उक्त निर्माण कार्य में ग्राम पंचायत एजेन्सी व रोजगार सहायक, तकनीकी सहायक के मिली-भगत से शासकीय राशि का दुरूपयोग करने के उद्देश्य से पूर्व में बने तालाब के उपर ही नवीन तालाब का निर्माण कराया जा रहा है साथ ही साथ रोजगार सहायक द्वारा उक्त कार्य में भारी भ्रष्टाचार कारित करते हुए फर्जी मास्टर रोल तैयार कर स्वीकृत राशि का आहरण किया जा रहा है जो जांच का विषय है।

संबंधित पोस्ट

मनरेगा जॉबकॉर्डधारी परिवारों को 100 दिनों का रोजगार देने में छत्तीसगढ़ देश में प्रथम

5 लाख से अधिक श्रमिक व अन्य लोग लौटे,मनरेगा के तहत मजदूरों को मिला काम

महासमुंद : मनरेगा के कार्य में भारी गड़बड़ी की शिकायतें

जहां चल रहा हो मनरेगा का काम, वहां बीड़ी पीना, तंबाकू खाना और थूकना मना

मनरेगा : छत्तीसगढ़ शीर्ष राज्यों में शुमार

मनरेगा : मजदूरी के बदले अनाज देने की मंशा, भूपेश ने केंद्र से मांगी अनुमति

लॉकडाउन में मनरेगा का कार्य शुरू, फिजिकल डिस्टेंसिंग का भी पालन

कोरिया : मनरेगा में मज़दूरी खाते में महज़ 26 रुपए बचे, कैसे हो गुजारा

सीएम भूपेश का मोदी को एक और ख़त, मांगी मनरेगा के पहले 3 माह की मजदूरी

भूपेश सरकार ने मनरेगा का 86 फीसदी पूरा किया लक्ष्य, 2.56 लाख परिवारों को रोजगार

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कोरिया : कांग्रेस के लिए चुनौती

मनरेगा : रोजगार देने वाले राज्यों में चौथे स्थान पर छत्तीसगढ़