Video:लेमरू एलिफेंट प्रोजेक्ट: विरोध कर रहे ग्रामीणों को मिला मंत्री सिंहदेव का साथ

बिना ग्रामीणों के मंजूरी नहीं आने दिया जाएगा, जरूरत पड़ी तो आमरण अनशन भी करेंगे- टीएस सिंह देव

सरगुजा । सरगुजा जिले के उदयपुर और लखनपुर विकासखंण्ड में शासन की महत्वाकांक्षी लेमरू एलिफेंट प्रोजेक्ट को ग्रहण लगता सा दिखाई देने लगा है| परियोजना को लेकर चल रहे विरोध कर रहे ग्रामीणों के समर्थन में छत्तीसगढ़ शासन के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव खुलकर सामने आ गये हैं|

कैबिनेट मंत्री टीएस सिंह देव ने स्पष्ट कर दिया है कि बिना ग्रामीणों के मंजूरी लेमरू परियोजना को सरगुजा में नहीं आने दिया जाएगा| जरूरत पड़ी तो वे  इसके लिए आमरण अनशन भी करेंगे। उक्त बातें सिंह देव ने उदयपुर ब्लॉक के ग्राम खम्हरिया में आयोजित एक कार्यक्रम में कहीं|

मंत्री श्री सिंह देव ने ग्रामीणों से कहा कि ये प्रजातंत्र है मैं जैसा कहूंगा आपको वैसा नहीं करना है।आप जैसा चाहेंगे वैसा ही होगा।आप ऐसा मत सोचिए कि, बाबा इस सरकार में है और बाबा ग्रामसभा करा कर सहमति ले रहे हैं, यह लोकतंत्र है आप ही राजा हैं और आप ही इसका फैसला करेंगे। वन विभाग व प्रशासन के अधिकारी आपके पास आएंगे आप बिना हिचक इसका विरोध करें या समर्थन दें।

मंत्री सिंह देव ने कहा कि कई गांव के ग्रामीण इस प्रोजेक्ट से सहमत नहीं है। ग्रामीणों में भय की स्थिति निर्मित हो गई है कि प्रशासन और वन विभाग उनपर दबाव बनाकर इस प्रोजेक्ट के लिए मंजूरी न ले ले।

मंत्री सिंहदेव ने ग्रामीणों को भरोसा दिलाया गया है कि उनकी मंजूरी के बगैर लेमरू अभ्यारण में कोई भी क्षेत्र नहीं जाएगा। जब तक ग्रामीण इस प्रोजेक्ट के लिए सहमत नहीं होते तब तक उनसे प्रशासन या फिर सरकार जबरन मंजूरी नहीं लेगी।

गौरतलब है कि सरकार ने सरगुजा जिला में लेमरू परियोजना को लेकर लगभग 4000 वर्ग किलोमीटर में सर्वे की है जिसमें उदयपुर के 38 गांव एवं लखनपुर के 14 गांव अभ्यारण क्षेत्र में शामिल होना प्रस्तावित है। सिंहदेव ने कहा कि पहले 1995 वर्ग किलोमीटर में सर्वे किया गया था अब इसका क्षेत्रफल इतना ज्यादा बढ़ाया जा रहा है मैं इसके कतई पक्ष में नहीं हूं।इतने बड़े क्षेत्रफल से कई गांव प्रभावित होगा।श्री सिंह देव ने कहा कि उन्हें यह समझ में नहीं आ रहा है कि इसका क्षेत्रफल इतना क्यों बढ़ाया जा रहा है।

कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम भी शामिल थे । इस दौरान मंत्री टी एस सिंह देव ने जनता की समस्या सुनी और कई विकास कार्यों की सौगात दी।

बता दें कि शासन की ग्रामीण महत्वाकांक्षी हाथी लेमरू कोरीडोर परियोजना का लगातार विरोध कर रहे हैं। अब इन ग्रामीणों को अब सरकार के कैबिनेट मंत्री श्री सिंह देव का साथ मिल गया है| पढ़ेंhttps://deshtv.in/chhattisgarh/sarguja-divison/surguja-lemru-elephant-corridor-project-should-not-be-stuck-in-protest/

लेमरू एलिफेंट प्रोजेक्ट के दायरे में उदयपुर और लखनपुर ब्लाक के गांवों को शामिल करने का प्रस्ताव है। ये दोनों ब्लाक अंबिकापुर विधानसभा क्षेत्र में आते है। इसी विधानसभा से मंत्री टीएस सिंहदेव निर्वाचित हुए है।

बहरहाल, कैबिनेट मंत्री श्री सिंह देव के इस बयान से इस परियोजना को ग्रहण लगता सा दिखाई देने लगा है|

 

संबंधित पोस्ट

सरगुजा : डाक्टर पर कालेज छात्रा ने लगाया रेप का आरोप, मामला दर्ज

सरगुजा: शादी पंडाल में आ धमका हाथी, हमले में घायल बुजुर्ग की मौत

सरगुजा : पत्नी की प्रेमी संग प्रताड़ना से तंग पति ने फांसी लगा ली

सरगुजा: बलरामपुर में शराबी बेटे ने माँ को जिन्दा जला दिया  

सरगुजा: बलात्कार के बढ़ते मामलों ने उड़ाई पुलिस प्रशासन की नींद

सरगुजा: विरोध में फंसकर रह न जाये लेमरू हाथी कोरीडोर परियोजना

सरगुजा: विवाहित प्रेमिका से मिलने गया वह उसकी आखरी रात बनी

सरगुजा : हाथियों ने 2 हेक्टेयर फसल रौंदा, दहशत में ग्रामीण  

सरगुजाः प्रतापपुर वन परिक्षेत्र में फिर एक हाथी का शव मिला, मौत स्पष्ट नहीं

EXCLUSIVE कोरियाः डीएमएफ से ढाई गुणा काम स्वीकृत पर रायल्टी बीते तीन साल से कम

सरगुजाः हाथियों की मौत की जांच-पड़ताल में जुटा केंद्रीय दल

सरगुजाः वन्य प्राणियों को बेहोश कर इलाज का प्रशिक्षण लेंगे वनअफसर-पशु चिकित्सक